muslim-reservation-rally-5

महाराष्ट्र में मुस्लिम समुदाय द्वारा आरक्षण की मांग जोर पकडती जा रही हैं. टीपू सुल्तान के पड़पोते सैयद मंसूर अली टीपू के नेतृत्व में मालेगांव में मुस्लिमों ने शांतिपूर्वक जुलुस निकालकर सरकार से आरक्षण दी जाने की मांग की.

इस रैली में मुस्मिम समुदाय के लोगों की इतनी बड़ी तादाद होगी. ये किसी ने सोंचा भी नहीं था. एक लाख लोगों को देखकर महाराष्ट्र सरकार भी सकते में आ गई. इस रैली का मकसद मुसलमानों को आरक्षण न दिए जाने पर सरकार के प्रति नाराजगी व्यक्त करना था.

और पढ़े -   मध्यप्रदेश की तरह महाराष्ट्र में भी किसान हुए उग्र, जमकर कर रहे आगजनी और तोड़फोड़

इस मौके पर सैयद मनद ने कहा कि जिस तरह टीपू सुल्तान के दौर में हिंदू भाइयों को सरकारी नौकरियों और सेना में भरपूर हिस्सेदारी दी जाती थी. इसी तरह लोकतांत्रिक सरकार भी अपना कर्तव्य निभाए. उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार मुस्लिम पर्सनल ला में दखलंदाज़ी से बाज़ आये.

मालेगांव के अलावा राज्य के कई हिस्सों में मुस्लिम समाज ने शांति मार्च निकाल कर आरक्षण की मांग की. गौरतलब रहे कि महाराष्ट्र में मुसलमानों की स्थिति दयनीय हैं.

और पढ़े -   मंदिर के पास खड़े रहने पर मुस्लिम युवक को पीटा, पुलिस सिर्फ तमाशबीन बनी रही

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE