बसपा के कद्दावर नेता नसीमुद्दीन स‍िद्दीकी को बेटे सहित बुधवार को पार्टी से न‍िष्कास‍ित कर द‍िया गया. पार्टी के नेशनल जनरल सेक्रेटरी सतीश चंद्र मिश्रा ने नसीमुद्दीन पर टिकट देने के लि‍ए पैसा लेने, अनुशासनहीनता और पार्टी विरोधी गतिविधियों में शामिल होने के चलते उन्हें बाहर का रास्ता दिखाया है.

मिश्र ने यह जानकारी देते हुए कहा कि दोनों पार्टी की छवि को खराब कर रहे थे. मिश्रा ने आरोप लगाया कि सिद्दीकी ने पश्चिमी यूपी में बेनामी संपत्ति बनाई और अवैध बूचड़खाने भी चला रहे थे. उन्होंने कहा, नसीमुद्दीन सिद्दीकी पार्टी के नाम पर वसूली करते थे.

और पढ़े -   बीजेपी महिला नेता ने मुस्लिम लड़के के साथ दिखने पर हिन्दू लड़की को पीटा

उन्होंने कहा कि सिद्दीकी और उनके बेटे को पार्टी के सभी पदों से बर्खास्त करने के साथ-साथ उन्हें पार्टी से भी निकालने का फैसला किया गया है.

हालांकि नसीमुद्दीन के बेटे अफजल सिद्दीकी ने कहा, ”हमने पूरी निष्ठा के साथ काम किया है, ये सभी जानते हैं. इसके बावजूद ऐसा डिसीजन लिया गया है. हमें नहीं मालूम ऐसा क्यों हुआ। हम प्रेस कॉन्फ्रेंस के जरिए अपनी बात सबके सामने रखेंगे.

और पढ़े -   मोदी सरकार ने दी हजारों चकमा और हजोंग शरणार्थियों को नागरिकता, जल उठा अरुणाचल प्रदेश

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE