new-500-200-rupee-note_650x400_41478619220

देश में 2000 के नोट के लिए लाइन लगाकर जनता कतार में खड़ी है वही कुछ मास्टर माइंड अपराधी ऐसे है जिन्होंने इस मौके का पूरा फायदा जालसाजी के काम में उठाया, कुछ दिनों पूर्व बंगलौर में 2000 का नकली नोट पकड़ा गया था वहीँ आज पंजाब के तरन तारन में भी ऐसा ही मामला सुर्ख़ियों में आया है.

मोदी जी ने बड़े नोटों पर पाबन्दी लगायी यह सोचकर की पड़ोसी देशों में नकली नोटों का व्यापार खत्म हो जायेगा लेकिन देश में ही नकली नोट छापना का सिलसिला शुरू हो गया. मौजूदा मामला पंजाब स्थित तरनतारन का है। जहां एक फोटो कॉपी की मशीन चलाने वाले शख्स ने 2,000 का जाली नोट कंप्यूटर, स्कैनर और प्रिंटर की मदद से तैयार कर लिया।

मामले में जांच अधिकारी असिस्टेंट सब इंस्पेक्टर गुरदीप सिंह ने बताया कि संदीप फोटोकॉपी की दुकान चलाता है साथ ही कंप्यूटर ऑपरेटर भी है। बताया गया कि संदीप के पास स्कैनर, प्रिंटर और कंप्यूटर भी है। जिसकी मदद से वो ये नकली नोट छापता था। बैन किए गए थे नोट गौरतलब है कि 8 नवंबर को राष्ट्र के नाम संदेश में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने घोषणा की थी कि आधी रात के बाद से यानी 9 नवंबर से मोदी सरकार ने 500 और 1000 रुपए के नोटों पर बैन लगा दिया है।

पुलिस ने बताया कि इन लोगों ने सोचा कि शहर में अभी बहुत कम लोगों के पास ही 2000 का नया नोट है। लिहाजा वे उसकी फोटोकॉपी बनाकर आसानी से लोगों को बेवकूफ बना सकते हैं। एएसआई गुरदीप सिंह ने बताया कि आरोपी संदीप कुमार फोटोकॉपी की दुकान चलाता है और उसके पास कंप्यूटर, स्कैनर और प्रिंटर मौजूद है। इसी का फायदा उठाकर उसने 2000 के नकली नोट प्रिंट किए।

आरोपियों ने शहर में कई लोगों को यह नकली नोट देकर बेवकूफ भी बनाया। इन्हीं में से एक दुकानदार सोनू ने कहा, ‘बैंककर्मी असली और नकली नोट में आसानी से फर्क कर सकते हैं लेकिन आम आदमी नहीं। खासतौर पर तब जब इस नोट को हमने देखा ही नहीं है।’


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें