पुणे के एक किसान ने जब मंडी में 952 किलो प्याज बेचे तो उसको सिर्फ 1 रुपये हासिल हुआ। पुणे के शिरूर तहसील के वडगांव सराई गांव में रहने वाले किसान देवीदास मारुति परभणे (48) नाम के इस किसान ने अपनी 2 एकड़ जमीन में 80,000 रुपए खर्च करके प्याज उगाया था। उन्होंने कहा, ‘10 मई को मैंने 952 किलो प्याज एक ट्रक में लादकर पुणे स्थित एपीएमसी पहुंचाया। प्रति दस किलो प्याज के लिये मुझे 16 रुपए मिले। यानी एक रुपया साठ पैसे प्रति किलो का भाव मिला।’

इस तरह 1,523 रुपए 20 पैसे मिले। इसमें से 91.35 रुपए बिचौलिए को आढ़त के देने पड़े। 59 रुपए मजदूरी लगी। 33.30 रुपए वजन तुलवाने में लगे। 18.55 रुपए प्याज भराई में लगे।1320 रुपए ट्रांसपोर्टेशन के लिए देने पड़े। इस तरह 1522.20 रुपए खर्च हो गए। किसान ने कहा कि सभी कटौतियों के बाद उसके पास केवल एक रुपया ही बचा।

परभाने ने कहा, ‘हर दिन हम सूखा प्रभावित इलाकों में किसानों द्वारा आत्महत्या के समाचार सुन रहे हैं। हालांकि, प्याज की कीमतों के इस निचले स्तर तक आने के बाद मेरे जैसे किसानों का भी यही हश्र हो सकता है।’


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें