डिस्ट्रिक्‍ट कलेक्‍टर आशुतोष अवस्‍थी ने कहा कि एडवाइजरी बोर्ड जल्‍द बताएगा कि इस मामले में NSA लगाया जाना सही है या नहीं?

मध्‍य प्रदेश के देवास जिला प्रशासन ने बीजेपी के कार्यकर्ता अनवर मेव उर्फ अन्‍ना पर नेशनल सिक्‍योरिटी एक्‍ट (NSA) के तहत कार्रवाई की गई है। कुछ दिनों पहले ही उनके घर से कथित तौर पर बीफ मिलने की बात सामने आई थी, जिसके बाद उन्‍हें पार्टी से निलंबित कर दिया था। NSA लगाए जाने के बाद अनवर को उज्‍जैन जेल भेज दिया गया है। वह बीजेपी जिला अल्‍पसंख्‍यक प्रकोष्‍ठ के उपाध्‍यक्ष थे।

और पढ़े -   इलाहाबाद हाईकोर्ट के आदेश पर गिराया जाएगा मस्जिद का एक हिस्सा

जानकारी के मुताबिक, इस मामले में नौ और आरोपी हैं, जिन्‍हें फिलहाल स्‍थानीय जेल में कैद हैं। इनमें अनवर का बेटा, भाई और रिश्‍तेदार भी शामिल हैं। दूसरी ओर तहसीलदार कन्‍हैया लाल तिवारी ने नगर निगम और पुलिस अधिकारियों से कहा है कि वे टोंक-खुर्द इलाके में मंदिर और स्‍कूलों के पास मौजूद मटन और चिकन की दुकानों को तीन दिन के भीतर बंद करवाएं। आपको बता दें कि अनवर का घर इसी इलाके में है।

और पढ़े -   बीजेपी से गठबंधन टूटने की ख़ुशी में NPF ने दी कार्यकर्ताओं को बीफ पार्टी

अनवर के परिवारवालों का कहना है कि उनके घर से बरामद मीट भैंस का था, लेकिन पुलिस और प्रशासन ने शुरुआती जांच के आधार पर ही एक्‍शन ही ले लिया, जबकि मथुरा लैब से फाइनल रिपोर्ट आने में दो हफ्ते का समय लगेगा। डिस्ट्रिक्‍ट कलेक्‍टर आशुतोष अवस्‍थी ने कहा कि अनवर ने पहली बार ये नहीं किया है और उन्‍होंने गवर्नमेंट वेटरनरी हॉस्पिटल से जानकारी मांगी थी, जिसमें बरामद मीट के टुकड़े को गाय का मांस ही बताया गया है। उन्‍होंने कहा कि एडवाइजरी बोर्ड जल्‍द बताएगा कि इस मामले में NSA लगाया जाना सही या नहीं?

और पढ़े -   शिवराज के तेरह सालों के शासन में 15 हजार किसानों ने की आत्महत्या

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE