लखनऊ। मेरठ में ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (एआइएमआइएम) के महानगर अध्यक्ष हाजी मोहम्मद अनस ने शुक्रवार को चौधरी चरण सिंह पार्क में जलसे के दौरान समाजवादी पार्टी के खिलाफ जमकर जहर उगला। उन्होंने मंच से ही ऐलान किया कि मुख्यमंत्री अपना एक हाथ काटकर दे दें तो एआइएमआइएम उन्हें 10 करोड़ रुपये देगी।

जलसे में आरोप लगाया कि सपा सरकार में मुस्लिमों एवं दलितों पर अत्याचार हो रहा है। महानगर अध्यक्ष हाजी मो. अनस के निशाने पर पहले सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष मुलायम सिंह रहे। अनस ने वादे के मुताबिक मुस्लिमों को 18 प्रतिशत आरक्षण की मांग पूरी न करने तथा जेलों में बंद निर्दोष मुस्लिमों को रिहा न करने पर जमकर कोसा। इसके बाद मुख्यमंत्री को निशाना बनाते हुए दादरी कांड पर विवादास्पद बयान भी दिया। कहा कि सपा व उसके नेताओं की नजर में इंसान की जान की कोई कीमत नहीं है। दादरी कांड में अखलाक की गोकशी के आरोप में जान ले ली गई।

और पढ़े -   देशभक्ति के झूठे प्रमाण-पत्र बांट कर देशभक्ति की व्याख्या बदलने की कोशिश: तुषार गांधी

जब एआइएमआइएम के राष्ट्रीय अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी हैदराबाद से पहुंचे और घटना की जानकारी ली, विरोध जताया तो पहले पांच लाख रुपये फिर 10 लाख रुपये के मुआवजे की घोषणा की गई, लेकिन घटना को अंजाम देने वालों के खिलाफ अभी तक कोई ठोस कार्रवाई नहीं की गई। अनस ने कहा कि मुख्यमंत्री अपना एक हाथ काटकर दे दें तो एआइएमआइएम उन्हें 10 करोड़ रुपये देगी। विरोध प्रदर्शन के बाद राज्यपाल के नाम ज्ञापन एसीएम ज्योति राय को दिया गया। (jagran)

और पढ़े -   बड़ा खुलासा - बीजेपी नेता करता था अधिकारियों को स्कूली छात्राओं की सप्लाई

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE