उत्तर प्रदेश के प्रतापगढ़ में लव संस्कार का मामला सामने आया है. जहाँ एक हिन्दू लड़के मुस्लिम बनकर मुस्लिम लड़की से निकाह किया. इस बात का खुलासा लड़के के आधार कार्ड से बाद में हुआ कि वह मुस्लिम नहीं है.

सिआसत के अनुसार, प्रतापगढ़ के सिप्टैन रोड निवासी गुलशाफ बानो ने पुलिस में शिकायत दर्ज कराते हुए कहा कि उसकी मुलाकात एक मोबाइल के दुकान पर कपिल से हुई थी. मोबाइल की दुकान पर अक्सर रीचार्ज कराने जाया करती थी. धीरे-धीरे दोनो परिचित हुये तो दुकानदार से रीचार्ज के बहाने बातचीत भी होने लगी.

गुलशाफ का कहना है कि है कि इस दौरान दुकानदार कपिल ने अपना नाम काफिल अहमद बताया था. बातचीत के बाद दोस्ती प्यार में बदल गई और दोनों ने शादी करने का फैसला किया. 2016 में कफील और गुलशाफ का पुरानी मस्जिद में निकाह हुआ.

निकाह के बाद दोनों दिल्ली आकर चांदनी चौक में कमरा लेकर रहने लगे. गुलशाफ का आरोप है कि इस बीच वह दो बार प्रेग्नेंट भी हुई लेकिन कफील ने उसे जबरन दवा खिलाकर गर्भपात करा दिया.अचानक एक दिन कपडे धोते समय कफील की जेब से उसका आधार कार्ड मिला. आधार कार्ड पर उसका नाम कपिल यादव पुत्र सुरेश चंद्र यादव पता रानीगंज प्रतापगढ़ लिखा था.

इस बाते के खुलासे के बाद कपिल ने उसे मारपीट भी की और उसे वापस प्रतापगढ़ ले आया. और एक दिन फिर अचनका गायब हो गया. गुलशाफ जब आधार कार्ड के सहारे खोजबीन शुरू की और ढूंढते ढूंढते कपिल के घर पहुंच गई तो पता चला कपिल दूसरी शादी की तैयारी में है. फिर उसने पुलिस में इसकी शिकायत की.

मामले में एसपी प्रतापगढ़ शगुन गौतम ने बताया कि हां इस तरह का मामला संज्ञान में आया है. मामला नगर कोतवाली है. मैंने इसकी जांच नगर कोतवाली भेज दी है. जांच की जा रही है. उसके आधार पर कार्रवाई की जाएगी.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

अभी पढ़ी जा रही ख़बरें

SHARE