जैसे ही मोदी सरकार ने ऐतिहासिक फैसला लेते हुए बड़े नोट बंद किये है तभी से देशभर में पैसा लूटने की घटनाएं यकायक खत्म ही हो गयी है, शायद मतदाताओं के साथ साथ देश के लूटेरे भी समझदार हो चले है लेकिन नोटों को लेकर देशभर में इतना हल्ला मचने के बाद भी उत्तर प्रदेश से ल्लोत की एक घटना सामने आ ही गयी. हो सकता है लूटेरा अभी इतना जागरूक नही हो पाया हो डीजीपी मुख्यालय के कंट्रोल रूम में बुधवार को पूरे दिन कैश लूट की एक भी वारदात की सूचना नहीं आई।

और पढ़े -   अमरिंदर सिंह ने किसानों से किया वादा निभाया, सीमांत कृषकों का 2 लाख रु तक का कर्ज माफ़

देर शाम बरेली जोन के अमरोहा स्थित अजरोरी के जंगल में कैंटर सवार नत्थू सिंह के साथ साढ़े तीन लाख रुपये की लूट की सूचना आई। इसके बाद डीजीपी मुख्यालय ने सभी जिलों में हुई लूट और डकैती की वारदात का ब्यौरा मांगा गया, लेकिन अमरोहा छोड़कर किसी भी जिले से कैश लूट की सूचना नहीं मिली। आईजी जोन लखनऊ ए सतीश गणेश ने बताया कि अकेले लखनऊ से हर दिन चेन लूट समेत दो या तीन लूट की वारदात होती हैं, लेकिन बुधवार की रात से उनके जोन के 11 जिलों में से किसी में भी लूट की घटना नहीं हुई।

और पढ़े -   मध्यप्रदेश की तरह महाराष्ट्र में भी किसान हुए उग्र, जमकर कर रहे आगजनी और तोड़फोड़

जहाँ एक तरफ देश के कालाबाजारियों में खलबली का माहौल है वहीँ आम जनता के पास इतनी फुर्सत नही के वो बैंक की लाइन छोड़कर किसी और काम को अंजाम डे सके, जिन्हें नए नोट मिल गये है वो खुद को किसी विजेता से कम नही समझ रहे और सोशल मीडिया पर नए नोट के साथ अपनी फोटो अपलोड कर रहे है.

और पढ़े -   मध्यप्रदेश में किसान आंदोलन को बीते 16 दिन, इसी बीच 16 किसानों ने की आत्महत्या

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE