116974700

कपासन: चित्‍तौड़गढ़ के कपासन में मशहूर सूफी संत की हजरत दीवाना शाह की दरगाह ने देशहित में केंद्र सरकार के ‘बेटी बचाओ और बेटी पढ़ाओ’ के अभियान के तहत लड़कियों की शिक्षा के लिए दरगाह की पिछले दो महीने की  21 लाख रुपए केंद्र सरकार को देने का फैसला किया हैं.

इसके अलावा केंद्र के ‘स्‍वच्‍छ भारत अभियान’ में हिस्सा लेते हुए  दरगाह परिसर में और अधिक शौचालयों के निर्माण के लिए भी पैसे का उपयोग करने की भी योजना बनाई हैं. दरगाह समिति के सचिव मोहम्‍मद यासीन ने इस बारें में कहा ‘ दोनों अभियान बहुत ही अलग और अनूठे हैं और इस्‍लाम के बुनियादी स‍िद्धांत के करीब है. स्‍वच्‍छ भारत अभियान साफ-सफाई के बारे में बात करता है जो कि इस्‍लाम का महत्‍वपूर्ण पहलू है.

और पढ़े -   दूसरी शादी के लिए धर्मपरिवर्तन को इलाहाबाद हाईकोर्ट ने ग़ैरक़ानूनी करार दिया

दरगाह ट्रस्ट ने आगे बढ़ते हुए 30 बीगा के दरगाह परिसर में आम जनता के लिए 40 शौचालय का निर्माण कराया हैं वहीँ दरगाह के अलग-अलग कोनों में 20 से ज्‍यादा शौचालय और बनाने वाले हैं. इस बारें में यासीन ने कहा ‘ यह केवल भ‍क्‍तों के लिए ही नहीं होगा बल्‍ि‍क स्‍थानीय लोग भी यूज कर सकेंगे. हमारा उद्देश्‍य उन्‍हें शौचालयों के फायदों के बारे में शिक्षित करना है.’

और पढ़े -   गांधी जिस अंतिम आदमी की बात करते थे वह आज भी उतना ही जूझ रहा है

राज्‍य के सबसे संवेदनशील जिले चित्‍तौड़गढ़ में सूफी संत हजरत दीवाना शाह की दरगाह सद्भावना की मिसाल हैं. हजरत दीवाना शाह के आखिरी वक्त में उनके हिन्दू मुरीद ने ही उनकी सेवा की थी. 1944 में दुनिया से अलविदा कहने के बाद भी शिक्षक हरी राम ने 40 सालों तक दरगाह में सेवाएं दी.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE