पीलीभीत – 2015 में 23 नवंबर को एक परेशान परिवार ने पीलीभीत के सुंघाड़ी पुलिस में अर्जी लगाई। उनकी शिकायत थी कि कुछ अज्ञात गुंडों ने उनकी बेटी को अगवा कर लिया है। परिवार मदद के लिए गिड़गिड़ता रहा, लेकिन पुलिस वालों ने उनकी शिकायत दर्ज नहीं की और उन्हें लौटा दिया। इस वारदात के 40 दिन बाद, मंगलवार को इस परिवार के पास उनकी ही बेटी का एक MMS पहुंचा है। अपराधियों द्वारा भेजी गई इस विडियो क्लिप में दिख रहा है कि किस तरह उन्होंने पीड़िता के साथ सामूहिक बलात्कार किया।

यह विडियो ना केवल पीड़िता के साथ हुए अपराध का सबूत है, बल्कि यह पुलिस की लापरवाही का भी सबूत है। पीड़ता के परिवार ने अब पीलीभीत के एसपी जवाहर कुशवाह के पास मदद की गुहार लगाई है। कुशवाह ने सुंघाड़ी पुलिस को तत्काल इस मामले में शिकायत दर्ज कर पीड़िता को खोजने का निर्देश जारी किया है।

वायरल विडियो देखें 

पीड़िता की उम्र मुश्किल से 25-26 साल की है। बुरी तरह से रोते-तड़पते उनके पिता बताते हैं, ‘इस मामले को पुलिस ने गंभीरता से नहीं लिया और अब मेरी बेटी के अपहरण के पूरे 40 दिन बाद, हमें इस तरह का विडियो मिला है। मेरी बेटी अभी तक लापता है और यह विडियो को देखने और यह जानने के बाद कि मेरी बेटी के साथ क्या हुआ, हमारे लिए यह तकलीफ बर्दाश्त करना नामुमकिन है।’

इस बारे में पूछे जाने पर कुशवाह ने बताया, ‘हमने एक टीम को बरेली भेजा है। शहर के सर्कल अधिकारी इस मामले की जांच कर रहे हैं। जिस मोबाइल नंबर से पीड़ित परिवार को विडियो भेजा गया था, उसका पता लगा लिया गया है और अब हमारी टीम उसके लोकेशन का पता लगा रही है। हमें उम्मीद है कि हम अगले 2 दिन के अंदर पीड़िता को खोज लेंगे।’

पीड़िता पीलीभीत की रहने वाली है। बदांयू आते समय बरेली में किसी जगह उसका अपहरण किए जाने की आशंका जताई जा रही है। घटना 23 नवंबर की है। सुंघाड़ी पुलिस ने जब उनकी शिकायत लिखने से इनकार करते हुए उन्हें लौटा दिया, उसके बाद से यह परिवार कई लोगों से मदद की अपील कर चुका है, लेकिन उन्हें कहीं से भी राहत नहीं मिली। यह विडियो क्लिप पीड़िता की छोटी बहन को वॉट्सऐप के द्वारा भेजा गया था। इसके बाद परिवार ने कुशवाह से मिलकर अपने साथ हुए अन्याय का किस्सा सुनाया।

यह पूछे जाने पर कि पीड़ित परिवार की शिकायत लिखने में इतनी देर क्यों हुई, सुंघाड़ी पुलिस स्टेशन के प्रभारी ब्रजेश सिंह कोई ठीक-ठीक जवाब नहीं दे पाते हैं। उन्होंने कहा, ‘यह मामला हमने देखा था और अपहरण की गई महिला का ब्योरा हमने नैशनल क्राइम रेकॉर्ड ब्यूरो को दिया था। अब हम इस मामले को सुलझाने की पूरी कोशिश कर रहे हैं।’


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

Facebook Comment

Related Posts

loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें