लखनऊ: यूपी बीजेपी के नए अध्यक्ष केशव प्रसाद मौर्या भले ही बचपन में काफी तंगहाली झेल चुके हैं, कभी चाय बेची तो कभी अखबार बांटकर गुजारा किया, लेकिन आज वह करोड़ों की संपत्ति के मालिक हैं।

केशव कहानी: UP BJP के नए चीफ ने कभी की मजदूरी,आज है करोड़ों की संपत्ति

करोड़ों की संपत्ति
-लोकसभा चुनाव में नॉमिनेशन के दौरान दिए हलफनामे के अनुसार, केशव दंपती पेट्रोल पंप, एग्रो ट्रेडिंग कंपनी, कामधेनु लॉजिस्टिक आदि के मालिक हैं।
-साथ ही जीवन ज्योति अस्पताल में पति-पत्नी पार्टनर हैं। सामाजिक कार्यों के लिए कामधेनु चेरीटेबल सोसायटी भी बना रखी है।
– 2007 में केशव की संपत्ति 1 करोड़ 36 लाख रुपए थी, जो 2014 तक बढ़कर नौ करोड़ 32 लाख रुपए हो गई।
-उन पर कुल दो करोड़ 43 लाख रुपए की देनदारी भी है।

ऐसे गुजरा बचपन
-केशव कौशांबी के सिराथू के कसया गांव के रहने वाले हैं। उनके पिता श्याम लाल वहां चाय की दुकान चलाते थे।
-केशव प्रसाद मौर्य की प्राथमिक शिक्षा-दीक्षा भी वहीं हुई। बचपन में केशव पिता की दुकान चलाने में मदद करते थे और अखबार भी बेचते थे।

दामन पर लगे हैं दाग
-बता दें कि यूपी बीजेपी के नए अध्यक्ष के दामन पर दाग लग चुका है।
-केशव मौर्या पर हत्या के प्रयास की चार्जशीट कोर्ट में दाखिल है।
-केशव साल 2011 में मोहम्मद गौस हत्याकांड में आरोपी रहे हैं।
-एडीआर ने 2014 लोकसभा चुनाव में दिए हलफनामे के हवाले से बताया है कि केशव पर 11 केस दर्ज हैं।

राजनीतिक कैरियर
-विहिप से जुड़े केशव 18 वर्ष तक गंगापार और यमुनापार में प्रचारक रहे।
-2002 में शहर पश्चिमी विधानसभा सीट से उन्होंने भाजपा प्रत्याशी के रूप में राजनीतिक सफर शुरू किया।
-उन्हें बसपा प्रत्याशी राजू पाल ने हराया था। इसके बाद वर्ष 2007 के चुनाव में भी उन्होंने इसी विधानसभा क्षेत्र से चुनाव लड़ा। इस बार भी उन्हें जीत तो नहीं हासिल हुई।
-2012 के चुनाव में उन्हें सिराथू विधानसभा सीट से भारी जीत मिली। यह सीट पहली बार भाजपा के खाते में आई थी। दो वर्ष तक विधायक रहने वाले केशव ने फूलपुर सीट पर भी पहली बार भाजपा का झंडा फहराया।
-मोदी लहर में इस सीट पर पांच लाख 3564 वोट हासिल कर उन्होंने एक इतिहास बना दिया। (newztrack.com)


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें