vijayan-620x400

केरल सरकार ने मंदिरों में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) की शाखा पर रोक लगाने के लिए नया कानून बनाने जा रही हैं जिसके तहत मंदिर परिसरों में आरएसएस की शाखाओं पर रोक लग जाएगी और राज्य में कहीं पर भी शाखा लगाने पर पुलिस को सूचित करना होगा.

सीपीएम नेता और देवास्वोम मंत्री कडकम्पल्ली सुरेंद्रन ने कहा, “किसी भी संगठन द्वारा मंदिरों का इस्तेमाल हथियारों और शारीरिक प्रशिक्षण के लिए करना श्रद्धालुओं के संग अन्याय है. कुछ मंदिरों में ऐसी गैर-कानूनी गतिविधियां हो रही हैं. शाखा की आड़ में आरएसएस मंदिरों को हथियार छिपाने और प्रशिक्षण देने की जगह के तौर पर इस्तेमाल कर रही है.”

और पढ़े -   उग्र जाट आंदोलन ने बढ़ाई वसुंधरा सरकार की मुसीबत, रेल पटरियों को उखाड़ा गया

साथ ही त्रावणकोर देवास्वोम बोर्ड के अध्यक्ष प्रयार गोपालकृष्णन ने कहा कि आरएसएस के स्वयंसेवक मंदिरो में पूजा-प्रार्थना कर सकते हैं लेकिन हम उन्हें हथियारों के प्रशिक्षण की इजाजत नहीं देंगे.”

गौरतलब रहें कि केरल की कम्युनिस्ट पार्टी ऑफ इंडिया-मार्क्सवादी (सीपीएम) सरकार ने कुछ दिन पहले ही आरोप लगाया था कि आरएसएस मंदिरों का इस्तेमाल हथियारों को छुपाने के लिए कर रहा हैं.

और पढ़े -   मुठभेड़ में मारा गया आनंदपाल, राजस्थान पुलिस ने रखा हुआ था 5 लाख का इनाम

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE