शनिवार को राजधानी तिरूवनंतपुरम में आरएसएस के एक कार्यकर्ता की धारदार हथियार से कथित तौर पर हत्या कर देने के मामले में पुलिस ने 5 लोगों को हिरासत में लिया है.

34 वर्षीय राजेश की एक हिस्ट्रीशीटर की अगुवाई वाले गिरोह ने शनिवार रात में घर लौटते वक्त धारदार हथियार से हमला कर दी थी. रात को करीब नौ बजे हुए इस हमले में हमलावरों ने  बायां हाथ काट दिया था. संघ की और से कार्यकर्ता की हत्या का आरोप माकपा पर लगाया गया है.

और पढ़े -   देशभक्ति के झूठे प्रमाण-पत्र बांट कर देशभक्ति की व्याख्या बदलने की कोशिश: तुषार गांधी

पुलिस का कहना है कि हिरासत में लिए गए लोगों में मामले का मुख्य आरोपी हिस्ट्रीशीटर बदमाश भी शामिल है. सभी को रविवार सुबह ग्रामीण कत्ताक्कड़ा से हिरासत में लिया गया. शहर पुलिस के आयुक्त जीएस कुमार ने कहा कि आरोपियों से पूछताछ चल रही है. एक व्यक्ति कि गिरफ्तारी का प्रयास जारी है.

घटना के एक दिन बाद केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने केरल में राजनीतिक कार्यकर्ताओं पर होने वाले हमलों पर चिंता जताते हुए कहा कि लोकतंत्र में राजनीतिक हिंसा अस्वीकार्य है. मुख्यमंत्री पिनराई विजयन के कार्यालय का कहना है कि सिंह ने आज सुबह उनसे बात की है.

और पढ़े -   पूर्व केंद्रीय मंत्री मोहम्मद तस्लीमुद्दीन का हुआ देहांत

मुख्यमंत्री कार्यालय ने फेसबुक पर एक पोस्ट में लिखा है, मुख्यमंत्री ने उन्हें सूचित किया कि राज्य सरकार आरोपी के खिलाफ कार्रवाई करेगी, फिर चाहे वह कोई भी हों. राजनाथ सिंह ने इस रुख पर संतोष जताया है.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE