नई दिल्ली: दिल्ली सरकार ने आज ऐलान किया कि उसके अस्पतालों में एक फरवरी से आवश्यक दवाईयों में किसी प्रकार की कमीं नहीं रहेगी। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और स्वास्थ्य मंत्री सतेन्द्र जैन ने सरकार के अस्पतालों के चिकित्सा अधीक्षकों तथा अन्य वरिष्ठ अधिकारियों के साथ बैठक करने के बाद यह घोषणा की।

केजरीवाल का ऐलान, 1 फरवरी से अस्पतालों में मिलेगी हर दवा!केजरीवाल ने कहा कि वर्ष 2016 में उनकी सरकार शिक्षा और स्वास्थ्य के क्षेत्र को बेहतर बनाने के लिए कदम उठा रही है। सरकारी अस्पतालों में डाक्टर और कर्मचारी अच्छे हैं लेकिन तंत्र की खराबी होने से मरीजों और गरीबों को दवाई और सुविधाएं नहीं मिल पा रही थी। सरकार ऐसे कदम उठा रही है कि एक फरवरी से आवश्यक दवाईयों की कोई कमी नहीं रहेगी।

सरकार दवाईयों का छह महीनों का स्टॉक रखेगी। इसमें तीन महीने का भंडार अस्पतालों के पास और तीन महीने का केन्द्रीय खरीद प्राधिकरण के पास रहेगा। सभी औपचारिकताएं 26 जनवरी तक पूरी कर ली जाएंगी। आपात स्थिति में अस्पताल के चिकित्सा अधीक्षकों को दवाई खरीदने का अधिकार रहेंगे। वैसे दवाई की खरीद का काम प्राधिकरण के जिम्मे होगा।  साभार: पंजाब केसरी


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें