insha

अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय में एग्रीकल्चरल विज्ञान में डॉक्टरेट कर रही इंशा जुहूर ने एएमयू के दीक्षांत समारोह में तीन स्वर्ण पदक हासिल कर मिसाल क़ायम की हैं. तीन स्वर्ण पदक एक साथ पाने वाली इंशा जुहूर कश्मीर की पहली छात्रा हैं.

इंशा जुहूर की प्रारंभिक शिक्षा कश्मीर के शोपियां के मकतबा जामिया से हुई है. उसके बाद उन्होंने बीटेक इस्लामिक विश्वविद्यालय विज्ञान और प्रौद्योगिकी से किया, फिर एमटेक में लिए इंशा जुहूर ने अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय में कदम रखा. इंशा की म्हणत और लगन देखकर विभाग के एक शिक्षक ने उन्हें खुद आगे बढ़कर अपना रिसर्च स्कालर बनाया.

और पढ़े -   यूपी - दलित अपनाना चाहते हैं इस्लाम धर्म, करते रह गए उलेमाओं का इंतजार

इस वर्ष एमटेक पूरा होने के बाद उन्हें तुरंत रिसर्च में प्रवेश मिला और दीक्षांत समारोह में 3 स्वर्ण पदक प्राप्त कर उन्होंने अपने माता-पिता का नाम रोशन किया. उन्होंने अपनी सफलता का श्रेय अपने शिक्षकों और माता पिता सहित जम्मू-कश्मीर के मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती को दिया.

इंशा जुहूर के जानने वाले सभी उनकी लगन और कड़ी मेहनत के कायल हैं. बेगम सुल्तान जहां हॉल में उनके साथ रह रहीं छात्राओं ने बताया कि उनकी दोस्ती सिर्फ किताबों से है और वह खेल भी ऐसे ही खेलती हैं जिससे साहित्यिक वातावरण मिले .बहुत सारी लड़कियां उन्हें अपना रोल मॉडल मानती हैं और कहती हैं कि वह इन जीवन से बहुत कुछ सीखती हैं.

और पढ़े -   सेक्स रेकेट चलाते धरे गए बीजेपी मीडिया प्रभारी के भाजपा के बड़े नेताओं से है रिश्तें ?

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE