अलगाववादी नेता और हुर्रियत कांफ्रेंस के चेयरमैन सैयद अली गिलानी ने कश्मीरी पंडितों से घाटी में लौटने की अपील की है. साथ ही उन्होंने पंडित समुदाय को कश्मीरी समाज का अभिन्न हिस्सा करार दिया.

गिलानी का ये बयान हकश्मीर पंडितों के एक प्रतिनिधिमंडल की गिलानी से मुलाकात के बाद आया है. प्रतिनिधिमंडल ने उनके स्वास्थ्य के बारे में जानकारी ली और कश्मीरी पंडितों की वापसी से संबंधित विभिन्न मुद्दों पर चर्चा की.

“प्रतिनिधिमंडल के समक्ष गिलानी ने यह स्पष्ट किया कि हुर्रियत का हमेशा से यह विश्वास रहा है कि कश्मीरी पंडित कश्मीरी समाज का एक अभिन्न अंग हैं और कश्मीरी लोग उनके कश्मीर लौटने और उनके फिर से पहले की तरह समाज का हिस्सा बनने के इंतजार में है”

उन्होंने कहा, हम उनकी वापसी के खिलाफ नहीं हैं हजारों पंडित अभी भी हमारे साथ रह रहे हैं और किसी भी अन्य स्थान पर स्थानांतरित नहीं हुए हैं. वे पूरी सद्भाव में रह रहे हैं और स्थानीय मुसलमान उन्हें मदद करते हैं और उनकी भावनाओं को साझा करते हैं. गिलानी ने कहा कि राज्य प्रशासन उन्हें सहायता प्रदान करे, अगर उनमें से किसी ने अपनी संपत्ति का निपटारा किया हो.

गिलानी ने कहा कि उनका मानना है कि हिंदुओं, सिख, बोध, ईसाई और अन्य समुदायों सहित सभी को अपनी इच्छा व्यक्त करने का अधिकार है और उनका सम्मान करना होगा. वहीँ पंडित नेताओं ने गिलानी के साथ सहमति व्यक्त की और कहा कि हर परिपक्व और समझदार व्यक्ति कभी भी विभिन्न समुदायों के बीच आपसी सद्भाव और भाईचारे के टूटने का समर्थन नहीं करेगा.

पंडित नेता ने स्वीकार किया कि पंडित समुदाय के हजारों सदस्य बिना डर और कठिनाइयों का सामना किये बिना शांतिपूर्ण जीवन जी रहे हैं.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

अभी पढ़ी जा रही ख़बरें

SHARE