tipp

शेर-ए-मैसूर के नाम से प्रसिद्ध एतिहासिक शासक टीपू सुल्तान की जयंती के मौके पर शुक्रवार को पूरे राज्य में सुरक्षा कड़ी कर दी गयी है.

राज्य सरकार द्वारा आयोजित कार्यक्रम को छोड़कर टीपू जयंती से संबंधित जुलूस निकालने की अन्य लोगो को इजाजत नहीं होगी. बेंगलुरू के पुलिस आयुक्त टी सुनील कुमार ने कहा, ‘‘हम किसी जुलूस के लिए कोई अनुमति नहीं दे रहे है चाहे वह टीपू जयंती के पक्ष में हो या फिर खिलाफ में. सरकार शहर के विभिन्न हिस्सों में कार्यक्रम आयोजित कर रही है जिसके लिए हमने पर्याप्त प्रबंध किये हैं.’’

उन्होंने कहा कि कर्नाटक राज्य रिजर्व पुलिस (केएसआरपी) की 30 टुकड़ियों और 25 सशस्त्र दलों के अलावा पुलिसकर्मियों और अधिकारियों को तैनात किया जायेगा.

सुनील कुमार ने कहा, ‘पूरे शहर में 11 हजार से अधिक पुलिसकर्मी तैनात होंगे. इसके अलावा हम होमगार्ड के जवानों को भी तैनात करेंगे. उन्होंने कहा कि जो भी अशांति पैदा करने की कोशिश करेंगे उनके खिलाफ पुलिस सख्ती से निपटा जायेगा. उन्होंने बताया , हमने अब तक एहतियातन किसी को गिरफ्तार नहीं किया है लेकिन यदि कोई अप्रिय स्थिति पैदा होती है तो धारा 144 लगायी जा सकती है.

ध्यान रहे राज्य की सिद्दारमैया के नेतृत्व वाली कांग्रेस सरकार ने दो वर्ष पहले टीपू जयंती मनाना शुरू किया था. हालांकि संघ परिवार सहित कुछ दक्षिणपंथी समूह इस के विरोध में है.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

अभी पढ़ी जा रही ख़बरें

SHARE