tunda

बुधवार सुबह करनाल जेल में पानीपत बस अड्डे पर ब्लास्ट के आरोपी अब्दुल करीम टुंडा पर जानलेवा हमला किया गया. इस दौरान उसे गला दबाकर मारने की कोशिश की भी की गई. जिसके बाद टुंडा को इलाज के लिए सरकारी अस्पताल में भर्ती कराया गया हैं.

टुंडा को पानीपत में एक निजी बस में 1997 में हुए बम विस्फोट के सिलसिले में पानीपत की एक अदालत में पेश करने के लिए लाया गया था. इससे पहले टुंडा गाजियाबाद की डासना जेल में बंद था और बीती देर शाम को ही टुंडा को करनाल जेल में पानीपत कोर्ट में पेश करने के बाद भेजा गया था.

और पढ़े -   शाही इमाम की पंजाब सरकार को चेतावनी, नहीं सहेंगे कुरान की बेअदबी

करनाल के पुलिस अधीक्षक पंकज नैन ने कहा, कैदियों ने कथित तौर पर उसका गला घोंटने की भी कोशिश की लेकिन सतर्क जेल स्टाफ ने उसे बचा लिया. उसे भारी पुलिस सुरक्षा में चिकित्सा जांच के लिए स्थानीय अस्पताल ले जाया गया.वह ठीक है.

टुंडा पर हमला करने वाले कैदियों की पहचान अमनदीप और जोगिंदर के रूप में हुई है. टुंडा पर अचानक जेल में हुए इस हमले के पीछे क्या वजह थी. इस बात का खुलासा नहीं हुआ हैं.

और पढ़े -   मराठवाड़ा में रोज दो से तीन किसान कर रहे आत्महत्या: सरकारी रिपोर्ट

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE