pellet

8 जुलाई को हिजबुल कमांडर बुरहान वानी की मौत के बाद भड़की हिंसा को लगातार 5 महीने पुरे होने को आये हैं. लेकिन अब भी हालात पूरी तरह से सामान्य नहीं हो पाए हैं.

राज्य सरकार के स्वास्थ्य विभाग की और से जारी किये गये आकड़ों के अनुसार पिछले पांच महीनों की हिंसा ने राज्य के करीब 9010 लोग घायल हुए हैं. जिनमे से 1248 बच्चे हैं जिनकी उम्र 15 साल से भी कम बताई जा रही हैं. इनमें से 6205 पेलेट गन से जख्मी हुए हैं.

इसके अलावा सिक्योरिटी फोर्स की गोलीबारी में 365 लोग घायल हुए वहीँ 2436 लोग “अन्य चोटों” से घायल बताये जा रहे हैं. अन्य चोटों के रूप में सिक्योरिटी फोर्स की पिटाई से लगी चोटों को माना जा रहा हैं.

साथ ही घायलों में 12 साल से कम उम्र के 243 बच्चे हैं और 12-15 साल की उम्र के 1005 बच्चे हैं. अधिकतर बच्चें आंख में पेलेट गन लगने से हुए हैं. हालांकि ये आकड़ा जारी नहीं किया गया हैं. वहीँ  श्रीनगर के तीन प्रमुख हॉस्पिटल में ऐसे 1300 घायल लोग मिले, जिनकी आंख में पेलेट गन लगी थी. घायलों की संख्या सबसे ज्यादा सेंट्रल कश्मीर से हैं.


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें