झारखंड के कोल्हान प्रमंडल में बच्चा चोरी की अफ़वाह फैला कर चार मुस्लिम नौजवानों की पीट-पीट कर हत्या कर देने के मामले में बड़ा खुलासा सामने आया है. इन की मौत के तार कथित रूप से गौ-आतंकियों से जुड़ रहे है.

दरअसल इस इलाकें में पहले से ही बच्चा चोरी की अफवाह फैली हुई थी, जिसक लाभ उठाकर इन सभी की सुनियोजित तरीकें से हत्या की गई. टेलीग्राफ के रिपोर्ट में खुलासा हुआ कि  18 मई को मारे गए मवेशी व्यापारियों में से शेख हलीम उनके लक्ष्य पर था.

दरअसल पिछले महीने ही उनकी भतीजी की शादी में हुई थी, जिसमे बीफ की आपूर्ति को लेकर उनके बारें में भगवा कार्यकर्ताओं ने कई बार पूछताछ भी की थी. दरअसल घटना के दिन हमलावर इन व्यापारियों की तलाश में थे, लेकिन अचानक गायब होने से वे गुस्से में थे.

और पढ़े -   पहलू खान हत्याकांड सामने आए 2 नए नाम, गिरफ्तारी के हुए आदेश

टेलीग्राफ को ग्रामीणों ने बताया कि वहां छिपे हुए बच्चे के चोर को पुलिस को सौंप दिये जाने के आश्वासन के बाद भीड़ चली गई थी. अंजुमन मुस्लिम कमेटी के सदस्य शेर मोहम्मद ने कहा, लेकिन उस भीड़ की वापसी 30 मिनट बाद फिर हो गई. यह पूरा सुनियोजित था. मवेशी व्यापारियों को संघ परिवार से जुड़े सक्रिय गौरक्षक समूह के कारण 20 किलोमीटर दूर एक अन्य वैकल्पिक मार्ग लेने के लिए मजबूर किया गया था और बाद में उन पर नए रास्ते पर हमला किया गया.

और पढ़े -   योगी राज: गरीब और कुपोषित बच्चों का मिड-डे मील गायों को खिलाया जा रहा

एक ग्रामीण ने बताया कि हलीम, जो अपने दोस्तों के साथ शोरशाह में दामाद मोहम्मद मुर्तजा अनसारी के घर गए थे, उन पर गोमांस के लिए गाय का वध करने को लेकर संदेह था. जमशेदपुर और आदित्यपुर में मुस्लिम वर्चस्व वाले क्षेत्रों में गोमांस की आपूर्ति के बारे में अफवाहें थीं.

वहीँ जांच अधिकारी इस निष्कर्ष पर पहुंचे कि घटना के दौरान इस सक्रिय गौरक्षक समूह की उपस्थिति की अनदेखी की अफवाहों की वजह से उनकी मौत हो गई. एक सवाल के जवाब में एसपी राकेश बंसल ने उत्तर देते हुए कहा, वे सभी मवेशी व्यापारियों थे जो अपने व्यापार के लिए राजनगर गांवों का दौरा करते थे. लेकिन हम अभी भी गौरक्षक समूह की संलिप्तता के बारे में जानकारी प्राप्त कर रहे हैं. भीड़ ने बच्चा चोर होने के संदेह पर उन्हें मारा था.

और पढ़े -   पूर्व केंद्रीय मंत्री मोहम्मद तस्लीमुद्दीन का हुआ देहांत

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE