jh

झारखण्ड के जामताड़ा ज़िले में वॉट्सएप पर कथित भड़काऊ पोस्ट को लेकर गिरफ्तार किये गए मुस्लिम युवक की पुलिस कस्टडी में मौत हो गई.

दो अक्तूबर को एक व्हाट्सएप ग्रुप में नारायणपुर थाना क्षेत्र के दिघारी गांव निवासी मिनहाज अंसारी को विवादित पोस्ट करने के आरोप में गिरफ्तार किया गया था. मिनहाज अंसारी के परिजनों ने आरोप लगाया है कि हिरासत में रखे जाने के दौरान, पुलिस ने अंसारी को बहुत बुरी तरह से मारा पीटा, जिसके कारण उनकी मौत हो गई. रविवार की रात इलाज के दौरान रांची के सरकारी अस्पताल रिम्स में अंसारी की मौत हो गई.

और पढ़े -   मध्यप्रदेश की तरह महाराष्ट्र में भी किसान हुए उग्र, जमकर कर रहे आगजनी और तोड़फोड़

जामताड़ा के उपायुक्त रमेश कुमार दुबे ने बताया कि मारपीट और प्रताड़ना के मामले में मिनहाज अंसारी के घर वालों के आवेदन पर पुलिस ने नारायणपुर के थाना प्रभारी के ख़िलाफ़ मुक़दमा भी दर्ज कर लिया है.

इसके अलावा थाना प्रभारी ने भी मिनहाज के परिजनों के ख़िलाफ़ पुलिस पर हमले का केस दर्जा कराया है. डीएसपी पूज्य प्रकाश ने इस मामले में पुलिस का बचाव करते हुए कहा, “गिरफ़्तारी के बाद युवक की तबीयत ख़राब होने पर पहले जामताड़ा में उसका इलाज कराया गया. इसके बाद उन्हें इलाज के लिए धनबाद भेजा गया फिर स्थिति बिगड़ने पर रांची रेफ़र किया गया था.”

और पढ़े -   नमाज के वक्त गोलीबारी करने पर डीएसपी मोहम्मद अयूब की भीड़ ने की पीट-पीटकर हत्या

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE