झारखंड के जमशेदपुर में एक बार फिर से बच्चा चोरी के आरोप में भीड़ ने तीन लोगों की पीट-पीटकर हत्या कर दी गई. ये सब पुलिस की मोजुदगी में हुआ. जानकारी के अनुसार विकास कुमार वर्मा, गौतम कुमार वर्मा और गणेश गुप्ता ने लोगों ने घर से बाहर खींचकर निकाला और जमकर पीटा.

इस दौरान मौके पर पहुंची पुलिस ने कुछ भी नहीं किया. इस मामले में एक बूढ़ीं महिला की भी लोगों ने पिटाई की. मृतक के भाई उत्तम वर्मा का कहना है कि सबसे पहले उसके भाई को पुलिस जीप से निकाला गया और उसके बाद इसकी पीट-पीटकर हत्या कर दी गई. उत्तम ने बताया कि वह अपने परिवार के साथ टाटा मेन अस्पताल की दूसरी मंजिल पर था जब उसके भाइयों समेत सात लोगों को उग्र भीड़ ने मौत के घाट उतार दिया.

उत्तम ने बताया कि कि उन्होंने हाल ही में टॉयलेट्स बनाने का कारोबार शुरू किया था और वे आस-पास के इलाकों में अवेरनेस प्रोग्राम चला रहे थे. जमशेदपुर वापिस लौटते समय उन पर यह हमला किया था. उत्तम ने कहा- “हमें गोरदीह गांव के पास सड़क के किनारे भीड़ ने रोक लिया. हमें रोकने के बाद वे हमसे सवाल पूछने लगे. और फिर उन्होंने आरोप लगाया कि हम बच्चों को अगवा कर रहे थे. उनके पास तलवारें और कई हथियार थे.”

इसके बाद उन्होंने कहा, “पुलिस के आने के बाद हमने थोड़ा सुरक्षित महसूस किया. मेरे भाई गौतम पुलिस जीप के पास पहुंचे. लेकिन इतने में ही भीड़ ने उन पर हमला कर दिया। मैंने अपने भाई को अपनी आंखों के सामने मरते हुए देखा.” उत्तम ने दावा किया कि यह सब पुलिस की मौजूदगी में हुआ. उन्होंने कहा- “हम चाहते हैं कि इस मामले में इंसाफ हो. हत्यारों को सजा जरूर मिलनी चाहिए.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

अभी पढ़ी जा रही ख़बरें

SHARE