hin

जयपुर की सबसे बड़ी हिंगोनिया गौशाला में पिछले कुछ सप्ताहों के दौरान बड़ी संख्या में गायों की मौत पर गुरूवार को राजस्थान उच्च न्यायालय ने संज्ञान लेते हुए गहरी चिंता जताई हैं. अदालत में गायों की मौत पर सवाल उठाते हुए कहा कि एक साथ इतनी गायों की मौत होना निगम की लापरवाही को बताता है. गायों की मौतों को जब तक नहीं रोका जा सकता है, तब तक हम संवेदनशील नहीं होते हैं.

और पढ़े -   बीफ का आरोप लगाकर ली गई जुनैद की जान, पुलिस ख़ामोशी के साथ देखती रही

जयपुर में लगातार बारिश के चलते हिंगोनिया गौशाला में कीचड हो गया है. घटों तक कीचड में रहने के कारण बीते दो सप्ताह में गौशाला की करीब 500 गायों की मौत हो चुकी है। गौशाला में हुआ कीचड बीमार और बूढी गायों के लिए खतरनाक साबित हो रहा है.

hin1

उल्लेखनीय है कि हिंगोनिया गौशाला की देखरेख का पूरा जिम्मा नगर निगम का है. सरकार इस गौशाला के लिए हर वर्ष 15 करोड़ रूपए जारी करती है. गौशाला में गायों की देखरेख के लिए 17 पशु चिकित्सक और चालीस नर्सिंग स्टाफ भी है लेकिन लेकिन फिर भी यहां हर महीने करीब 1000 गायें मर रही हैं.

और पढ़े -   शिवराज के गृहनगर में फिर किसान ने की आत्महत्या, 8 दिनों में 12 किसानों ने दे दी अपनी जान


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE