hing

जयपुर स्थित हिंगोनिया गौशाला में गायों की मौत का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा हैं. कुप्रबंधन और भ्रष्टाचार की वजह से हजारों गायें पहले ही काल के मुंह में समा चुकी हैं.

वसुंधरा सरकार के लाख दावों के बावजूद भी कोई सुधार नहीं हुआ हैं और देश कथित गौरक्षकों को इस बारें में कोई फ़िक्र नहीं हैं. पिछले एक सप्ताह में रिकॉर्ड 358 गाय-बछड़ों की मौत हो चुकी है.

और पढ़े -   सप्ताह में एक बार स्कूलों और दफ्तरों में 'वंदे मातरम' बजना अनिवार्य: मद्रास हाईकोर्ट

पिछले सप्ताह के रिकॉर्ड पर नजर डाले तो मौत का आंकड़ा सामान्य दिनों के मुकाबले 10 से 12 अधिक है. यानी प्रतिदिन औसतम 44 गायों की मौतें हो रही है. गौशाला में शुक्रवार को एक दिन में 68 गाय-बछड़ों की मौत हुई.

20 अगस्त से 27 अगस्त तक हिंगोनिया गौशाला में 358 गायों की मौत हो चुकी है. 26 अगस्त शुक्रवार को हिंगोनिया में 68 गायों एवं बछड़ों की मौत हुई है. इसी प्रकार 20 अगस्त को 33, 21 अगस्त को 40, 22 अगस्त को 26, 23 अगस्त को 48, 24 अगस्त को 41, 25 अगस्त को 39, 26 अगस्त को 68 और 27 अगस्त को 43 गायों की मौत हुई है.

और पढ़े -   ब्राह्मण के हाथों हुआ गाय का क़त्ल, पंचायत ने दी गंगा नहाओ और मुक्ति पाओ की सज़ा

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE