रांची: राज्यसभा सांसद सह भाजपा प्रवक्ता, एमजे अकबर ने कहा कि पत्रकार भूख, गरीबी, अशिक्षा जैसी बातों को मुद्दा  बनाये़ं   क्या देश इसके बारे में नहीं जानना चाहता?  पांच प्रतिशत दुश्मनी देखना और 95 फीसदी दोस्ती नहीं देखना उचित नही़ं    सच्चाई की रिपोर्टिंग जरूर करें, पर असली सच्चाई गरीबी है़   जहर भरने का काम अंगरेजों के जमाने में शुरू हुआ, जिसे हमने पिछले 70 सालों में  काफी हटाया है़    किस समाज में विवाद नहीं होता है? अमन की बात करे़ं   अमन पर नजर रखें और पाठकों के प्रति वफादार रहे़ं   वे  शीघ्र प्रकाश्य  उर्दू दैनिक ‘जदीद भारत’ के कार्यालय के उदघाटन के मौके पर बोल रहे थे़   यह कार्यक्रम कडरु, जामिया नगर स्थित सर सैयद आलिया विला में हुआ़.
 भारत जैसी आजादी दूसरे मुल्कों में नहीं
उन्होंने कहा कि मुसलमानों के लिए भारत में जितनी आजादी है, उतनी कई दूसरे मुल्कों में नही़ं   यहां की कोई सुबह अजान के बिना नहीं होती़   ऐसा 1947 से नहीं, बल्कि पिछले 1400 सालों से है़  आपको वाशिंगटन में अजान की अावाज नहीं सुनायी देगी़  इस देश में सभी धर्मों के लोग पूरी आजादी से इबादत करते है़ं .

उन्हें उम्मीद है कि ‘जदीद भारत’ मुक्कमल उर्दू अखबार होगा, जो जज्बाती पत्रकारिता नहीं करेगा़   प्रबंध संपादक एसएम खुर्शीद व संपादक मुजफ्फर हसन ने कहा कि तरक्की अमन के माहौल में ही हो सकती है़   अखबार लोगों की उम्मीदों पर खरा उतरेगा़  इससे पूर्व मौलाना मुजाहिद इसलाम कासमी ने तिलावत-ए- कुरान के साथ कार्यक्रम की शुरुआत की़  कार्यक्रम में मौलाना ओबैदुल्लाह कासमी, मौलाना तहजीबुल हसन, डॉ शाहिद अख्तर, गौतम सागर राणा, प्रेम मित्तल, इबरार अहमद,  शमीम अली,  एम सईद, कमाल खान, प्रो शीन अख्तर, प्रो जावेद कमर, लतीफ आलम, अबू इमरान,अमजद अली, एमए हक, नसीम अहमद सहित कई लोग मौजूद थे़ (प्रभात खबर)


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें