The Nitish Kumar tongue Urdu big decision

कोहराम न्यूज़ के लिए पटना से कामरान गनी सबा की रिपोर्ट 

शिक्षक  दिवस  पर  राज्य  सरकार  की  ओर से राज्य  के  सरकारी  स्कूलों  के 11 शिक्षकों  को  इस  बार  राजकीय शिक्षा  पुरस्कार , 2015  से  सम्मानित  किया  जायेगा.  शिक्षा  मंत्री  अशोक  चौधरी  ने  11  शिक्षकों  के  नाम  पर  मुहर  लगा  दी  है.  पांच  सितंबर  को  शिक्षक  दिवस  पर  श्री कृष्ण  मेमोरियल  हॉल  में  आयोजित  होने वाले सम्मान समारोह  में  मुख्यमंत्री  नीतीश  कुमार  इन  शिक्षकों  को  सम्मानित  करेंगे.  हैरत  की  बात  यह  है  कि  इन  ग्यारह शिक्षकों  में  उर्दू  के  किसी  शिक्षक  या शिक्षिका  का  नाम  नहीं  है.  महिला  शिक्षिकाओं  को  भी  इस  बार  नज़रंदाज़  किया  गया  है.  ज्ञात  रहे  कि  मुख्यमंत्री  नीतीश  कुमार  ने  2013  में  ही  यह  निर्देश दिया  था  कि  राजकीय शिक्षा  समारोह  में  50%  जगह  महिलाओं  को  दी  जाये  लेकिन  इस  बार  मुख्यमंत्री  के  इस  निर्देश  का  भी  पालन  नहीं  किया   गया.  इस  बार केवल  तीन  महिला  शिक्षिकाएं  पुरूस्कार  के  लिए  चयनित  की  गयी  हैं.  उर्दू  और महिला  शिक्षिकाओं  को  राज्य  सरकार  दुवारा  नजरअदाज़  किया  जाना  बहुत  हीअफ़सोस नाक  है. उर्दू  बिहार  की  दूसरी  राजकीय  भाषा  है  इसलिए  राज्य  सरकार  को  हर  साल  कम  से  कम  एक  उर्दू  शिक्षक  या  शिक्षिका  को अवश्य  प्रुस्कृत  करना चाहिए.

 शिक्षक दवस समारोह में सम्मानित होने वाले शिक्षक-शिक्षिकाओं की सूचि

  1. रमाशंकर गिरि: प्रभारी प्रधानाध्यापक, राजकीयकृत आदर्श विपिन मध्य विद्यालय, बेतिया
  2. ज्ञानवर्धन कंठ: प्रधानाध्यापक, मध्य विद्यालय, भवप्रसाद, डुमरा, सीतामढ़ी
  3. विजेंद्र कुमार सिंह :  प्रभारी प्रधानाध्यापक, आदर्श मध्य विद्यालय, बड़हराकोठी, पूर्णिया
  4. डाॅ मनोज कुमार : सहायक शिक्षक, राजकीय मध्य विद्यालय, बिहहीमा बाजार, मोतीपुर, मुजफ्फरपुर
  5. अरविंद कुमार: प्रधानाध्यापक, प्राथमिक विद्यालय, कायमगंज, मखदुमपुर, जहानाबाद
  6. काशीनाथ त्रिपाठी: प्रभारी प्रधानाध्यापक, बलदेव अयोध्या प्लस टू विद्यालय, बाराचकिया, पूर्वी चंपारण
  7. संजय कुमार मिश्र: प्रधानाध्यापक, प्लस टू उच्च माध्यमिक विद्यालय, चांदी, रजीगंज, पूर्णिया
  8. नंदकिशोर सिंह : प्रधानाध्यापक, फिलिफ हाइस्कूल, बरियारपुर, मुंगेर
  9. नीतू सिंह : सहायक शिक्षिका, राजकीयकृत बबूजन विशेश्वर बालिका हाइस्कूल, सुपौल
  10. डाॅ इला सिन्हा: प्रधानाध्यापिका, मुखर्जी सेमिनरी विद्यालय (उच्च माध्यमिक), मुजफ्फरपुर
  11. आशा कुमारी: प्राचार्या, डीएवी हाइस्कूल सह इंटर कॉलेज, सीवान

लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें