आइएसआइएस से कथित संबंधों के आरोप में कुछ लोगों की हाल ही में हुई गिरफ्तारियों तथा इनको लेकर मुस्लिम संगठनों के विरोध की पृष्ठभूमि में तृणमूल कांग्रेस के वरिष्ठ नेता व आॅल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड के सदस्य सुलतान अहमद ने बुधवार को कहा…

आइएसआइएस से कथित संबंधों के आरोप में कुछ लोगों की हाल ही में हुई गिरफ्तारियों तथा इनको लेकर मुस्लिम संगठनों के विरोध की पृष्ठभूमि में तृणमूल कांग्रेस के वरिष्ठ नेता व आॅल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड के सदस्य सुलतान अहमद ने बुधवार को कहा कि भारतीय मुसलमानों पर इस आतंकी समूह का कोई प्रभाव नहीं है और केंद्र सरकार को गिरफ्तारियों का सिलसिला तत्काल बंद करना चाहिए।

अहमद ने बुधवार को बयान में कहा, ‘आइएसआइएस या किसी भी दूसरे आतंकी संगठन का भारतीय मुसलमानों पर कोई असर नहीं है। ये सभी संगठन नाकाम रहे हैं क्योंकि भारतीय मुसलमान हमेशा से आतंकवाद के खिलाफ रहा है। परंतु अब जो गिरफ्तारियां हो रही हैं, वो हैरान करने वाली हैं। इस तरह से लोगों को पकड़ा जा रहा है कि मानो देश में आइएसआइएस ने पैठ बना ली है।’

उन्होंने आरोप लगाया, ‘केंद्र सरकार अपनी नाकामियों से ध्यान भटकाने के लिए एजंसियों के माध्यम से ये सब कर रही है। सवाल यह है कि गिरफ्तारियों का सिलसिला अचानक से क्यों शुरू हुआ है?’ लोकसभा सदस्य ने कहा, ‘अगर इसी तरह से गिरफ्तारियां होती रहीं तो लोग मुसलमानों को आइएसआइएस से जुड़े होने के संदेह के साथ देखेंगे और पूरे देश का माहौल खराब होगा। सरकार को गिरफ्तारियों के सिलसिले को तत्काल रोकना चाहिए।’

गौरतलब है कि पिछले दिनों एनआइए ने देश के कुछ शहरों से कई लोगों को गिरफ्तार किया है जिन पर आइएसआइएस के साथ जुड़े होने और आतंकी हमलों की साजिश रचने का आरोप है। कई मुस्लिम संगठनों ने गिरफ्तारियों का विरोध किया है। (जनसत्ता)


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें