सरायलखंसी थाना क्षेत्र के नसीरपुर गांव में एतिकाफ में बैठे मौलवी की हत्या कर सांप्रदायिक दंगे भडकाने की साजिश रचने वाले आरोपी रमेश सिंह काका को पुलिस ने गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है. साथ ही पुलिस ने एक आरोपी की मदद करने के आरोप में एसओजी में तैनात कांस्टेबल को भी गिरफ्तार किया गया है.

पुलिस ने रमेश सिंह काका को बुधवार की शाम को बढुआगोदाम के पास से गिरफ्तार किया. पूछताछ में रमेश सिंह ने बताया कि पुलिस का ध्यान भटकाने, अपनी संपत्तियों को सुरक्षित करने हेतु अपने साथियों के साथ जनपद को सांप्रदायिकता की आग में झोंकने के लिए 22 जून को नसीरपुर गांव में घटना को अंजाम दिया था. हालांकि नसीरपुर ग्रामवासियों ने सौहार्द बनाए रखकर सभी के मंसूबों पर पानी फेर दिया.

और पढ़े -   चोटी कटने के बाद अब कटी दाढ़ी, पुलिस ने बताया: जादू-टोने का मामला

पुलिस अधीक्षक अभिषेक यादव ने बताया कि गैंगेस्टर समेत 61 मामलों में वांछित जिले के शातिर अपराधी रमेश सिंह काका के खिलाफ पिछले दिनों पुलिस द्वारा की जा रही तमाम कार्यवाही एवं गतिविधियों की गोपनीय जानकारी देने के आरोप में एसओजी में तैनात कांस्टेबल राजेश कुमार सिंह को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया.

गौरतलब है कि गत 22 जून की रात मस्जिद में प्रतिबंधित मांस फेंकने और मौलवी की हत्या कर दिए जाने की घटना के बाद पुलिस को शातिर अपराधी पूर्व ब्लाक प्रमुख रमेश उर्फ काका की सरगर्मी से तलाश थी, लेकिन तमाम सूचनाएं लीक हो जाने से अपराधी फरार चल रहा था.

और पढ़े -   यूपी: बीजेपी नेता ने किया शहीदों का अपमान, जूते पहने शहीद चौक में आए नजर

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE