bhat

पंजाब के भटिंडा में शुक्रवार को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की रैली हुई थी. इस दौरान एक बुर्जुग महिला को नोटबंदी पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का विरोध करना महंगा साबित हो गया.

दरअसल प्रधानमंत्री अखिल भारतीय चिकित्‍सा विज्ञान संस्‍थान(एम्‍स) के शिलान्‍यास के बाद रैली को संबोधित कर कैशलैस व्‍यवस्‍था से गरीबों को होने वाले फायदे बता रहे थे. अचानक गुरजिंदर कौर नाम की एक बुजुर्ग महिला ने चिल्लाते हुए कहा कि ”यह सब झूठ है.”

महिला का विरोध देख शिरोमणि अकाली दल के समर्थक गुरजिंदर कौर के सामने खड़े होकर मोदी जिंदाबाद के नारे लगाने लगे. इसी बीच वहां खड़े पुलिस वालों ने महिला का मुंह दबा कर पांडाल ने निकालने की कोशिश की. नहीं निकलने पर मारपीट भी की जिसकी वजह से महिला जख्मी भी हो गई थी. अंत में पुलिस महिला को चुपचाप पांडाल से मुंह दबा कर थाने ले गई.

भटिंडा की एसएसपी स्‍वप्‍न शर्मा ने बताया कि गुरजिंदर चिटफंड कंपनी में पैसा बर्बाद होने से परेशान थी. प्रधानमंत्री के जाने के बाद गुरजिंदर कौर को रिहा किया गया. इस दौरान पुलिस ने महिला को मीडिया से बात करने से भी रोक दिया.

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल ने इस घटना के लिए पीएम मोदी को जिम्मेदार ठहराते हुए कहा कि मोदी जी, किस किस को पीटोगे? किस किस का मुँह बंद करोगे?


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें