alex1

छत्तीसगढ़ के आइएएस एलेक्स पाल मेनन ने देश की न्यायिक व्यवस्था पर सवाल उठाते हुए देश की न्यायिक व्यवस्था को पक्षपातपूर्ण बताया हैं.

एलेक्स ने फेसबुक पोस्ट के जरिये सवाल उठाते हुए कहा, क्या भारत की न्यायिक व्यवस्था पक्षपातपूर्ण है ? जिसमें 94 फीसदी फांसी की सजा दलितों और मुस्लिमों को दी जाती है. एलेक्स की फेसबुक पर की गई टिप्पणी पर एक दिन में 100 से ज्यादा लाइक और दस कमेंट आए हैं.

और पढ़े -   कांग्रेस विधायक हत्याकांड मामलें में शिवराज के मंत्री के खिलाफ गिरफ्तारी वारंट जारी

एलेक्स की फेसबुक पर की गई टिप्पणी को प्रदेश के कई वरिष्ठ अधिकारियों और सामाजिक कार्यकर्ताओं ने गलत ठहराते हुए कहा कि एक आइएएस अधिकारी के रूप में इस तरह की जातिवादी टिप्पणी करना सही नहीं है.

गोरतलब रहें कि एलेक्स सोशल मीडिया पर जेएनयू छात्रसंघ अध्यक्ष कन्हैया का समर्थन करने के बाद विवादों में आए थे. इस मामले में विधानसभा में हंगामे के बाद सरकार ने एलेक्स को कलेक्टर के पद से हटाकर मंत्रालय में पदस्थ किया था

और पढ़े -   कोलकाता: मौलाना बरकाती को इमामत से हटाया गया, बरकाती बोले - ट्रस्ट में भी घुस गए है संघी

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE