सांप्रदायिक रूप से संवेदनशील पश्चिमी उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर के जेल में हिंदू कैदियों में रोजा रख अनोखी मिसाल पेश की है. यहां रमजान के दौरान 1,174 मुस्लिमों के साथ करीब 32 हिंदू कैदी भी पूरे दिन का उपवास ‘रोजा’ रखा है.

जेल अधीक्षक राकेश सिंह का कहना है कि जेल अधिकारियों ने कैदियों के लिए विशेष प्रबंध किया है जो रोजा रख रहे हैं. ‘इफ्तार’ के लिए उन्हें दूध और सूखा मेवा उपलब्ध कराया जाता है.

और पढ़े -   मोदी सरकार ने दी हजारों चकमा और हजोंग शरणार्थियों को नागरिकता, जल उठा अरुणाचल प्रदेश

याद रहे चार साल पहले उत्तर प्रदेश का मुजफ्फरनगर ज़िला हिंदू-मुस्लिम दंगों की वजह से अचानक सुर्खियों में आया था. मुजफ्फरनगर जैसे सांप्रदायिक रूप से संवेदनशील शहर में ये ख़बर राहत देने वाली है.

मुजफ्फरनगर और शामली में हुए दंगों से हिंदुओं और मुस्लिमों में मतभेद बढ़ गए थे. लेकिन, रमजान के इस मौके पर हिंदू-मुस्लिम कैदी रोजा रखकर सांप्रदायिक सौहार्द की मिसाल पेश कर रहे हैं.

और पढ़े -   सिमी सदस्यों के एनकाउंटर में मिली सभी पुलिस अधिकारियों को क्लीन चीट

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE