लखनऊ: बाबरी मस्जिद बनाम राम मंदिर मामले के मुख्य मुद्दई हाशिम अंसारी ने कांग्रेस पर निशाना साधते हुए सोमवार को कहा कि कांग्रेस के दिवंगत नेता और तत्कालीन प्रधानमंत्री नरसिम्हा राव ने अयोध्या में विवादित स्थल पर मौजूद मस्जिद तुड़वाई थी।

नरसिम्हा राव ने गिरवाई थी बाबरी मस्जिद: हाशिम अंसारी

अपने आवास पर मीडिया से बात करते हुए हाशिम ने बाबरी मस्जिद को बचाए न जाने पर अफसोस जाहिर करते हुए कहा, “उन्हें (राव को) पहले से इस मामले की जानकारी थी, फिर भी कोई कदम नहीं उठाया गया। इसलिए मैं मानता हूं कि इस मामले में उनकी मुख्य भूमिका थी। लेकिन वह मस्जिद गिराने के मुकदमे में मुलजिम नहीं बने।”

उन्होंने कहा कि इस घटना के बाद नरसिम्हा राव ने मस्जिद को दोबारा बनवाने की बात कही थी लेकिन उन्होंने देश के मुसलमानों के साथ धोखा किया, मस्जिद नहीं बनवाई। बुजुर्ग मुद्दई सर्वोच्च न्यायालय में लंबित फैसले में देरी से नाराज दिखे। उन्होंने कहा, “शायद हमारे मरने के बाद मंदिर-मस्जिद का फैसला होगा।”

हाशिम अंसारी ने भाजपा पर भी गंभीर आरोप लगाए। उन्होंने कहा कि भाजपा और कांग्रेस के लोग नेतागीरी के लिए देश के कानून को पैरों तले कुचलते रहे हैं। ये सब नेता राम जन्मभूमि और बाबरी मस्जिद के नाम पर सिर्फ नेतागीरी करते हैं। आखिर ये नेता इस विवाद का फैसला क्यों नहीं कराते?

उल्लेखनीय है कि उत्तर प्रदेश के फैजाबाद जिले के तहत अयोध्या में एक जनसभा करने के बाद हिंदूवादी संगठनों के सैकड़ों कार्यकर्ता वर्षो से वीरान पड़ी बाबरी मस्जिद पर टूट पड़े थे। कुछ ही घंटों में उन्होंने सदियों पुरानी मस्जिद जमींदोज कर दी थी। हिंदूवादी संगठनों का दावा है कि जिस जगह मस्जिद थी, वही राम जन्मभूमि है। इलाहाबाद उच्च न्यायालय ने विवादित जमीन को तीन हिस्सों में बांट दिया था, लेकिन यह फैसला किसी पक्ष को मंजूर नहीं हुआ। साभार: khabarindiatv


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment

Related Posts

loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें
SHARE