ओबीसी में शामिल करने की मांग पर हरियाणा में जाट समुदाय का आंदोलन हिंसक हो गया। इसमें तीन लोगों की मौत हो गई और 20 घायल हो गए। राज्य के नौ शहरों में सेना बुलाई गई है। कई जगह लूटपाट-आगजनी की खबरें भी आई हैं। व‍हीं आंदोलनकारियों ने सेना के 11 ट्रकों के कब्जे में लिया है। सेना के ये ट्रक हिसार से रोहतक के लिए रवाना हुए थे।

और पढ़े -   फलाहारी बाबा ने कबूला बलात्कार के जुर्म, भेजा गया 6 अक्तूबर तक न्यायिक हिरासत में

हिसार कैंट से आर्मी को रोहतक बुलाया गया। हिसार से रोहतक आने वाले राष्ट्रीय राजमार्ग को जेसीबी मशीन से राजमार्ग को खोद दिया गया। इस वजह से आर्मी का दूसरी तरफ जाना मुश्किल हो गया। आर्मी को जल्द रोहतक पहुंचाने के लिए एयरलिफ्ट किया गया। कुछ बटालियन दिल्ली से भी बुलाई गई। आर्मी को शनिवार सुबह 6 बजे तक पहुंचना था, लेकिन वो 9 बजे पहुंच सकी। एक जगह प्रदर्शनकारियों ने कुछ पुलिसकर्मियों को बंधक भी बना लिया।

और पढ़े -   गुजरात में नवरात्रि से पहले कंडोम की बिक्री में 35 फीसदी की वृद्धि

उग्र होते आंदोलन के बीच हरियाणा के सीएम मनोहर लाल खट्टर ने आर्थिक रूप से पिछड़े जाटों को आरक्षण देने का ऐलान किया है। खट्टर ने पीएम नरेंद्र मोदी और केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह को हालात की जानकारी दी। इस संबंध में दिल्ली में राजनाथ सिंह के घर हुई रिव्यू मीटिंग में मनोहर पर्रिकर, सुषमा स्वराज, अरुण जेटली और अजीत डोभाल शामिल हुए। (News24)

और पढ़े -   पीएम मोदी के वाराणसी दौरे का विरोध शुरू, BHU की छात्राओं मुंडन कर किया प्रदर्शन

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE