gujarat-oct26-1_647_101515123935

पीएम बनने के बाद आनंदी बेन पटेल ने गुजरात में नरेंद्र मोदी की विरासत संभाली थी। पाटीदार आंदोलन से निबटने के अलावा कई और मोर्चो पर नाकामी की वजह से आनंदी बेन पटेल को हटाने की बात चल रही है। पटेल को मुख्यमंत्री पद से हटाए जाने का ऎलान 20 मई बाद संभव है और पूर्व में चली अटकलों के अनुसार उन्हें राज्यपाल का बनाया जा सकता है।

सूत्रों के हवाले से ख़बर है कि अगले सीएम की रेस में नितिनभाई पटेल का नाम सबसे आगे है जो फिलहाल गुजरात में स्वास्थ्य मंत्रालय के अलावा कई अहम काम देख रहे हैं। उन्होंने पिछले हफ्ते पीएम से दिल्ली में मुलाकात भी की थी। पिछले साल अगस्त में शुरू हुए पाटीदार आंदोलन के दौरान मुख्यमंत्री हालातों को काबू में नहीं रख पाईं और बीजेपी के अपने सबसे मजबूत वोट बैंक के साथ रिश्ते खटास में पड़ गए। इस विफलता के लिए मुख्यमंत्री आनंदी बेन पटेल को जिम्मेदार ठहराया जा रहा है।

पीएम मोदी के करीबी ओम माथुर ने गुजरात के राजनीतिक हालात पर एक रिपोर्ट पेश की है। इस रिपोर्ट के मुताबिक आनंदीबेन राज्य में हुए पटेल आंदोलन के दौरान परिस्थितियों को संभालने में नाकाम रहीं।


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें