brin

गुजरात के अहमदबाद में भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो ने दो लोगों को रिश्वत देने के मामले में गिरफ्तार किया गया. रिश्वत लेने वाले दोनों शख्स पोर्ट ट्रस्ट अधिकारी हैं. इनके पास 2.9 लाख की रिश्वत की राशि में सिर्फ 2000 के नोट मिले हैं. जिससे भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो के अधिकारी भी परेशान हैं.

कांडला पोर्ट ट्रस्ट के अधीक्षण अभियंता पी श्रीविवासु और उप मंडल अधिकारी के कोमतेकर ने एक निजी फर्म के बिजली के लंबित बिलों की मंजूरी देने के लिए 4.4 लाख रुपये की रिश्वत की मांग की थी, 15 नवंबर को इन अधिकारियों ने एक बिचौलिया के जरिये फर्म से इस राशि का 2.5 लाख रूपये के रूप में एक हिस्सा स्वीकार किया.

इसके अलावा अधिकारियों के घर से नकदी के रूप में अलग से 40000 रूपये की राशि भी बरामद की गई. अधिकारी इस बारे में जांच करने में भी जुटे हैं आखिर इन लोगों को इतने कम समय में 2000 के नोट के रूप में इतनी बड़ा अमाउंट कैसे मिल गया.

गौरतलब रहें कि 2000 के नए नोटों का प्रचालन 11 नवम्बर को ही शुरू हुआ हैं. और नियमों के अनुसार एक व्यक्ति एक खाते से एक हफ्ते में सिर्फ 24000 रूपये ही निकालने की इजाजत दी गई हैं.


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें