guj

गुजरात के सौराष्ट्र इलाके में फिर से कथित गौरक्षकों द्वारा दलित युवको की पिटाई का मामला सामने आया हैं. गौरक्षकों के एक समूह ने सड़क किनारे पड़े गाय के बछड़े का शव फेंकने से मना करने पर दो दलित युवकों के साथ मारपीट की.

प्राप्त जानकरी के अनुसार दो दिन पहले मांडल गांव में सड़क किनारे एक बछड़ा मर गया था. सरपंच अटाभाई अहिर ने नागजी से मृत पशु को हटाने के लिए कहा. नागजी ने यह कहकर मृत पशु को हटाने से मना कर दिया कि गौरक्षकों द्वारा हमला करने की घटनाओं को देखते हुए उन्होंने यह काम बंद कर दिया है. उसके बाद गांव में सात लोगों के एक समूह ने नागजी राठौड़ और मायाभाई राठौड़ की पिटाई की, नागजी और मायाभाई को महुवा में स्थित एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया है.

पुलिस ने इस मामलें में भी आरोपियों के खिलाफ अनुसूचित जाति/जनजाति (अत्याचार निरोधक) अधिनियम के तहत मामला दर्ज कर गांव के सरपंच अटाभाई अहिर को गिरफ्तार कर लिया. पुलिस के मुताबिक, हमले में शामिल दो आरोपियों की पहचान अभी नहीं हो पाई है.

पुलिस निरीक्षक वी. एम. जाला ने बताया, ‘हमने सात आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज किया है और मामले की जांच राजुला के पुलिस उपाधीक्षक को सौंप दी गई है.’


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

Facebook Comment

Related Posts

loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें