dahod 301213 inner1

गुजरात विधानसभा चुनावों में बीजेपी की मुश्किलें कम होने का नाम नहीं ले रही है. दलित, पाटीदार, पिछड़ों के बाद अब आदिवासियों ने भी बीजेपी के बहिष्कार का ऐलान किया है.

जल जंगल जमीन को लेकर बीजेपी की नीतियों के विरोध में राज्य के तीन जिलों के 115 गाँव के आदिवासियों ने चुनावो में बीजेपी के बहिष्कार की घोषणा की है.आदिवासी वर्ग से जुड़े लोगों का कहना है कि जंगल की ज़मीन पर सिर्फ आदिवासियों का हक है. सरकार इसे मनमाने ढंग से किसी को नहीं दे सकती.

आदिवासी नेताओं ने खुले तौर पर चेतावनी देते हुए कहा कि यदि जंगल की ज़मीन मूल आदिवासियों को नहीं मिली तो तीन जिलों के 115 गाँव के आदिवासी चुनावो में बीजेपी का बहिष्कार करेंगे तथा जंगल की ज़मीन पर दखल ले लेंगे.

आदिवासियों के हक ले लिए पिछले 17 वर्षो से लड़ रहे पुंजी वसावा ने कहा कि सरकार आदिवासियों के हको की अनदेखी कर रही है. यदि सरकार ने जंगल ज़मीन मूल आदिवासियों को नहीं दी तो आदिवासी वर्ग स्वयं जंगल ज़मीन पर अपना अधिकार कर लेगा.

उन्होंने कहा कि हम कई वषो से ये मांग करते आ रहे हैं लेकिन सरकार हमारी मांगो की सुनवाई नहीं कर रही. वसावा ने कहा कि यदि हमे हमारे हक से वंचित किया गया तो हम चुनाव में बीजेपी का बहिष्कार करेंगे.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

अभी पढ़ी जा रही ख़बरें

SHARE