nikah_paper_signing

गुजरात में हुए 2002 के दंगों को करीब 15 साल होने वाले हैं लेकिन दंगों में अपना सब कुछ खोने वाले इन परिवारों की बेटियां आज शादी के लायक हो चुकी हैं. लेकिन गरीबी से मजबूर होकर बाप अपनी बेटियों को घर से विदा भी नहीं कर पा रहें हैं.

ऐसी स्थिति में इन परिवारों की और मदद का हाथ बडाते हुए अहमदाबाद के बिजनेसमैन लालाभाई श्याम्वाला ने इन लड़कियों के निकाह के लिए इज्तिमाई निकाह का आयोजन किया. इस इज्तिमाई निकाह का आयोजन वड़ोदरा में  किया गया जिसमे सौ मुस्लिम लड़कियों का निकाह हुआ.

और पढ़े -   मोदी सरकार ने दी हजारों चकमा और हजोंग शरणार्थियों को नागरिकता, जल उठा अरुणाचल प्रदेश

इस मोके पर बातचीत में लालाभाई ने कहा कि दंगा पीड़ित मुस्लिम परिवारों ने शादी के लियें उनसे मदद मांगी थी जिसके बाद उन्होंने मुस्लिम लडकियों की शादी सामूहिक रूप से करवाने का फैसला किया. उन्होंने आगे कहा उनसे अगर किसी को भी इस प्रकार की मदद की ज़रूरत होगी तो वो मदद के लियें तैयार रहेंगे.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE