गुजरात : प्रदर्शन में हिस्सा लेकर ऊना से लौट रहे दलितों पर हमले के आरोप में 22 गिरफ्तार

गुजरात के उना में हुई दलित महापंचायत से लौटने के दौरान दलित युवकों की पिटाई के मामलें में पुलिस ने 27 लोगों को गिरफ़्तार किया हैं.

अहमदाबाद से करीब 350 किलोमीटर दूर ऊना के निकट समतेर गांव में सोमवार शाम को उना के पास समतर गांव में 20 दलितों के एक समूह पर समतर गांव के पास भीड़ ने हमला कर दिया था, जिसमें आठ दलित गंभीर रूप से घायल हो गए. इन आठ लोगों को बाद में अहमदाबाद के सिविल अस्पताल रेफ़र कर दिया गया.

घटना उस वक्त हुई जब उन में स्वतंत्रता दिवस के मौके पर “अहमदाबाद से चली आजादी कूच रैली के समापन पर उना में हुई जनसभा” में से लौट रहें दलितों को  उना-भावनगर रोउ पर समतर के पास रोक कर उनकी पिटाई की. यह जगह मोटा समधिया गांव से ज्यादा दूर नहीं है, जहां पिछले महीने गौ-रक्षकों ने सात दलितों की बुरी तरह पिटाई की थी.

पीड़ितों का दावा है कि हमलावर समतर गांव के निवासी हैं. वे लोग पिछले महीने उना में दलितों की पिटाई करने की घटना को लेकर गिरफ्तार हुए 12 लोगों का ‘‘बदला’’ लेना चाहते थे. इस संबंध में दर्ज एफ़आईआर में दिनेश परमार नाम के एक युवक ने कहा, “उना में हुई महापंचायत से हम आठ लोग लौट रहे थे. तब समतर में हमारी गाड़ी को गांव वालों ने रोका और कार के शीशे तोड़ दिए. फिर उन लोगों ने हमें हॉकी स्टिक से पीटना शुरू कर दिया. हम लोग किसी तरह से बचकर स्थानीय अस्पताल पहुंचे.

पीड़ित मावजीभाई सरवैया का आरोप है कि उनपर समतर गांव के लोगों ने हमला किया. उन्होंने कहा, ‘‘उना दलित पिटाई कांड में अभी तक गिरफ्तार 30 लोगों में से 12 लोग समतर के रहने वाले हैं. यह उना से 11 किलोमीटर दूर स्थित है. मेरे सहित करीब 200 दलित बाइक से उना रैली में शामिल होने आए थे. जब हम लौट रहे थे, समतर के निवासियों ने सड़क अवरूद्ध किया बौर बेरहमी से हमें पीटा.’’


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें