gujarat-dalit-protest

उना कांड के बाद से ही गुजरात में दलितों का सरकार के प्रति गुस्सा थमने का नाम नहीं ले रहा हैं. अब दलितों ने राज्य सरकार के खिलाफ जमीन की मांग को लेकर विरोध-प्रदर्शन शुरू कर दिया हैं. लेकीन प्रदर्शन के दौरान उस वक्त हंगामा मच गया जब तीन दलित प्रदर्शनकारियों ने आत्महत्या की करने की कोशिश की.

प्राप्त जानकारी के अनुसार सोमवार को जूनागढ़ कलक्टर के बाहर भूमिहीन दलितों ने जमीन की मांग को लेकर धरना दे रखा था. इस दौरान पर्वतभाई परमार (52), चंदुभाई परमार (39) और जिग्नेश परमार (25 ने खुदकुशी की कोशिश करते हुए जहर पी लिया.

और पढ़े -   मध्यप्रदेश में किसान आंदोलन को बीते 16 दिन, इसी बीच 16 किसानों ने की आत्महत्या

जूनागढ़ सी-डिवीजन पुलिस स्टेशन के एक पुलिस अधिकारी ने बताया, ”तीनों जूनागढ़ जिले के मंगरोल तहसील के सांडा गांव के रहने वाले हैं. उन्होंने जमीन मसले को तुरंत सुलझाने की मांग की और जहर पी लिया.” इस मामलें में पुलिस ने  40 दलितों को हिरासत में ले लिया.

प्रदर्शनकारी दलित कार्यकर्ता सुबोध परमार ने कहा, ”हमने अपनी योजना के मुताबिक प्रदर्शन किया, क्योंकि सरकार ने हमारी मांगें पूरी नहीं की. हमने एक घंटे से ज्यादा समय तक सड़क जाम रखा.”

और पढ़े -   जुनैद की हत्या सीट के कारण नही दाढ़ी-टोपी के कारण हुई

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE