nursery-admission-arvind-kejriwal-government-shock-quota-management-at-the-finish-high-court-to-stop

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने मंगलवार को नोटबंदी को लेकर बुलाए दिल्ली विधानसभा के विशेष सत्र में पीएम मोदी पर रिश्वत के गंभीर आरोप लगाते हुए कहा कि ‘जो खुद भ्रष्ट है वह भ्रष्टाचार मिटाने की बात कर देश की जनता को गुमराह कर रहा है.’

केजरीवाल ने आरोप लगाया, “2013 में आयकर विभाग ने आदित्य बिड़ला समूह के दफ्तरों में छापेमारी की थी, जिसमें 25 करोड़ रुपये बरामद हुए थे.”  केजरीवाल ने कहा, ”शिवेंदु अमिताभ उस वक्त बिड़ला ग्रुप के ग्रुप एक्जीक्यूटिव प्रेसीडेंट थे. इसके बाद आईटी विभाग ने शिवेंदु अमिताभ के लैपटॉप और फोन की जांच की. शिवेंदु अमिताभ के लैपटॉम 16 नवंबर 2012 की एक एंट्री मिली.

उन्होंने आगे कहा, इस एट्री में लिखा था कि गुजरात सीएम को 25 करोड़.. उसके आगे 12 डन लिखा हुआ था. इसके बाद जब शिवेंदु अमिताभ का बयान लिया गया और उनसे पूछा गया कि गुजरात सीएम का क्या मतलब है तो उन्होंने जवाब दिया गुजरात एल्कनी केमिकल. इसके बाद जब अधिकारियों ने पूछा कि सीएम की फुलफॉर्म एल्कनी केमिकल कैसे हो सकती है तो उन्होने दोबार भी एल्कनी केमिकल ही बताया. इसके बाद इनकम टैक्स विभाग ने अपनी एक और रिपोर्ट बनाई और इसमें लिखा कि शिवेंदु अमिताभ झूठ रहे हैं.”

इसके साथ ही केजरीवाल ने एक अखबार कि रिपोर्ट को आधार बनाते हुए कहा कि सरकार आने के बाद अडानी ने 5468 करोड़ रुपये फर्जी बिल बनाकर देश से बाहर भेज दिए. उन पर कोई एक्शन नहीं. उस मामले की जांच कर रहे ईडी अफसरों को भी हटा दिया गया.

केजरीवाल ने कहा, ‘’केंद्र सरकार ने विजयमाल्या को तो 8000 करोड़ रुपये के साथ विदेश भगा दिया. 2.5 लाख रुपये जमा करने वालों को डरा रहे. ” केजरीवाल ने कहा, ”जनार्दन रेड्डी की बेटी की शादी है. उनके यहां 500 करोड़ रुपये खर्च होने हैं. ये पैसा कहां से आया. उनके पास 2000 के नोट कहां से आए. उनके घर छापा नहीं पड़ेगा क्योंकि वो बीजेपी के दोस्त हैं.


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें