गुजरात में एक बार फिर से कांग्रेस को बड़ा झटका लगा है. कांग्रेस के तीन विधायक बीजेपी में शामिल हो गए है.बीजेपी में शामिल होने पर कांग्रेस विधायक बलवंत सिंह राजपूत को पार्टी ने तुरंत ईनामस्वरुप राज्‍य सभा टिकट भी दे दिया.

बलवंत सिंह राजपूत कांग्रेस से हाल ही में अलग हुए शंकर सिंह वाघेला के समधी हैं और बीजेपी ने बलवंत सिंह राजपूत को ही अपना तीसरा राज्यसभा उम्मीदवार बनाया है. राजपूत कांग्रेस चीफ सोनिया गांधी के बेहद करीबी अहमद पटेल के विरोधी उम्मीदवार के तौर पर खड़े हुए है.

और पढ़े -   अदालत ने बढ़ती असहिष्णुता पर जताई चिंता, कहा - रोक लगाने की है सख्त जरुरत

राजपूत ने कांग्रेस अध्‍यक्ष सोनिया गांधी को चिट्ठी लिखते हुए कहा, ‘पार्टी के कुछ लोग शंकर सिंह वाघेला से मेरे पारिवारिक रिश्ते को लेकर पार्टी में मेरी छवि को नुकसान पहुंचाने की कोशिश कर रहे हैं. कांग्रेस पार्टी को ऐसी गतिविधियां करने वाले लोगों पर लगाम लगानी चाहिए, लेकिन ऐसा हो नहीं रहा. ऐसे हालात में कांग्रेस पार्टी में मेरे लिए काम करना मुमकिन नहीं है, इस वजह से मैं कांग्रेस के सभी पदों से इस्तीफा देता हूं.

और पढ़े -   योगी सरकार की कर्जमाफी - 1.5 लाख के कर्ज के बदले किया गया सिर्फ 1 पैसा माफ

गुजरात में राज्यसभा चुनाव आठ अगस्त को होना है. इस चुनाव में अहमद पटेल को राज्यसभा में लगातार चौथी बार पहुंचने के लिए 48 वोटों की जरूरत होगी. कांग्रेस के पास गुजरात में 60 विधायक थे, जिनमें तीन विधायकों के इस्तीफे के बाद अब 57 विधायक बचे हैं.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE