gau

उत्तरप्रदेश के गोरखपुर चौरीचौरा थाना क्षेत्र में दो दिन पहले दो दलित युवकों को पेट्रोल डालकर जिंदा जला दिया गया था. पुलिस ने इस मामलें में दो आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है.

प्राप्त जानकारी के अनुसार चुनावी रंजिश के चलते 11 अक्टूबर की रात को पाईप फैक्ट्री पर सो रहे संतोष पासवान और नर्वदा पासवान को पेट्रोल डालकर जिंदा जला की कोशिश की गई थी. दोनों युवको को झुलस जाने के बाद आनन-फानन में मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया गया था.

और पढ़े -   गोरखपुर: अभी जारी है बच्चों की मौत का सिलसिला, दो दिनों में 35 और बच्चों की मौत

हालात गंभीर हो जाने पर दोनों को डाक्टरों ने  पीजीआई लखनऊ रेफर कर दिया लेकिन इलाज के दौरान संतोष पासवान की मृत्यु हो गई है जबकि नर्वदा की हालत बेहद नाजुक बनी हुई हैं.

एसएसपी राम लाल वर्मा ने जानकारी देते हुए कहा कि नामजद आरोपियों में दो लोगों की गिरफ्तारी हो गई है, बाकि की तलाश के लिए टीमें दबिश दे रही है.इस घटना के पीछे प्रधानी चुनाव को लेकर दोनों पक्षों में विवाद बताया जा रहा है. पुलिस मामले की जांच कर रही है.

और पढ़े -   गोरखपुर के बाद अब सीतापुर में ऑक्सीजन की कमी से बच्चें की मौत

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE