आगरा। थाना सदर के वेदनगर में दिसंबर 2014 में हुए धर्मांतरण के 16 महीने के बाद पुलिस ने मुख्य आरोपी नंद किशोर बाल्मीकि पर गुंडा एक्ट लगाया है। बता दें, 200 मुस्लिम लोगों के धर्मांतरण मामले में पुलिस ने आरोपी नंद किशोर को गिरफ्तार कर जेल भेजा था।

एक न्यूज़ पोर्टल की रिपोर्ट के अनुसार थाना सदर अंतर्गत देवरी रोड स्थित वेदनगर में हुए धर्मांतरण मामले ने पूरे भारत में हलचल मचा दी थी। नंद किशोर पर दो समुदायों के बीच उन्माद फैलाने और धोखाघड़ी का मुकदमा दर्ज किया गया था। वहीं, घटना के बाद आरोपी फरार हो गया था, जिसके बाद पुलिस ने उसकी गिरफ्तारी के लिए 12,000 रुपए नकद इनाम देने की घोषणा की थी।  हालांकि बाद में नंद किशोर ने कोर्ट में सरेंडर कर दिया था। घटना के 16 महीने बाद आरोपी पर गुंडा एक्‍ट लगाने पर कई सवाल खड़े हो गए हैं।
दैनिक भास्कर के अनुसार, अक्टूबर 2015 में गुंडा एक्ट की कार्रवाई शुरू कर दी गयी थी, आरोपी की इसकी सूचना 19 अप्रैल को मिली। आरोपी को भेजे गए नोटिस में बताया गया है कि उसकी गतिविधियां संदिग्ध है और कभी भी क्षेत्र में शान्ति भांग करा सकती हैं। इसलिए उसपर गुंडा एक्ट की कार्रवाई की गई है।
साभार: upuklive.com
और पढ़े -   राजपूतों ने वसुंधरा सरकार को झुकाया, आनंदपाल एनकाउंटर की सीबीआई जांच की देनी पड़ी मंजूरी

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE