पणजी: प्राथमिक शिक्षा के क्षेत्र में शिक्षा के माध्यम के मुद्दे पर आरएसएस की आलोचना की पृष्ठभूमि में गोवा-भाजपा आज बचाव की मुद्रा में दिखी और कहा कि अगर किसी तरह के मतभेद हैं तो उन्हें दूर कर लिया जाएगा।

गोवा एमओआई मुद्दा : भाजपा ने कहा, संघ से कोई मतभेद नहींभाजपा के प्रदेश अध्यक्ष विनय तेंदुलकर ने यहां कहा कि शिक्षा के माध्यम (एमओआई) के मुद्दे पर संघ के साथ हमारा कोई मतभेद नहीं है। उन्हें सुलझा लिया जाएगा।

और पढ़े -   देशभक्ति के झूठे प्रमाण-पत्र बांट कर देशभक्ति की व्याख्या बदलने की कोशिश: तुषार गांधी

पणजी में आज पार्टी की कार्यकारी समिति की बैठक में शिक्षा का माध्यम और आरएसएस द्वारा भाजपा की आलोचना के मुद्दे पर चर्चा हुई।

भाजपा ने 2012 के गोवा विधानसभा चुनाव के अपने घोषणापत्र में क्षेत्रीय भाषाओं – कोंकणी और मराठी को एमओआई का दर्जा देने का आश्वासन दिया था, जबकि आरएसएस समर्थित सामजिक समूह ‘भारतीय भाषा सुरक्षा मंच’ (बीबीएसएम) ने मातृभाषा को शिक्षा का माध्यम बनाने और अंग्रेजी माध्यम से अध्यापन करने वाले स्कूलों को दिया गया अनुदान बंद करने की मांग की है।

और पढ़े -   कर्नाटक के वरिष्ठ कांग्रेस नेता कमरुल इस्लाम का हुआ निधन

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE