गौरक्षा के नाम पर मुस्लिमों पर होने वाली हिंसा चरम पर पहुँच चुकी है. आये दिन मुस्लिमों को कथित गौरक्षक अपनी हिंसा का शिकार बना रहे है. ताजा मामला फरीदाबाद का है. जहाँ मुस्लिम मवेशी व्यापारियों के साथ मारपीट की गई.

पलवल निवासी मुस्तक़ीम बुधवार को दिल्ली से वह भैंस को बेच कर अपने साथी आरिफ और शौक़ीन के साथ लौट रहे थे. गुरुवार की सुबह लगभग तीन बजे वह मजेसर मोड़ पर 10-15 लोगों ने उन्हें रोक लिया. ये सभी हाथ में डंडे लिए हुए थे.

और पढ़े -   मदरसे के पानी में जहर मिलाने की घटना थी पूर्व नियोजित: सलमा अंसारी

इन लोगों ने उनकी पिकअप के आगे और पीछे अपनी बाइक लगाकर डंडों से मारपीट शुरू कर दी. साथ ही उन्होंने उनकी गाडी का शीशा भी तोड़ दिया. मुस्तक़ीम के अनुसार एक हमलावर ने उनकी दाढ़ी पकड़कर खिंची. इन लोगों ने आरिफ और शौकीन के पैरों पर से वार किया जिससे दोनों वहीं गिर पड़े. मुस्तक़ीम के अनुसार ये सभी बल्लभगढ़ गोरक्षक टीम के सदस्य हैं. इस दौरान उनके भैंस के पैसे भी लूटकर के गए

और पढ़े -   मदरसे के वाटर टैंक में मिलाया ज़हर, शहर की फ़िज़ा बिगाड़ने की साज़िश

एसएचओ सेक्टर 55 थाना इंस्पेक्टर नरेंद्र सांगवान ने बताया कि मुस्तक़ीम के मामले में डकैती, मारपीट, धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचाने, आदि धाराओं में मुकदमा दर्ज कर आरोपियों की खोज की जा रही है.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE