चित्तौडग़ढ़: वन विभाग में वन रक्षक भर्ती परीक्षा के दौरान बेहद आपत्तिजनक और लापरवाही देखने को मिली। दरअसल,  चित्तौडग़ढ में महिला अभ्यर्थियों का शारीरिक परीक्षण पुरूष सिपाही कर रहा था। तस्वीरें मीडिया में आने के बाद इस पर खूब हंगामा मचा और उक्स सिपाही को सस्पेंड करने का आदेश दिया।

van

मीडिया में वीडियो आने के बाद वन मंत्री राजकुमार रिणवा ने महिला का फिजिकल टेस्ट लेने वाला वन कर्मी करणपाल को निलंबित करने का आदेश दिया। मंत्री ने सफाई दी कि डॉक्टर के कहने पर गार्ड ने फिजिकल टेस्ट लिया।

बता दें कि 57 पदों के लिए 10 जनवरी को हुई लिखित परीक्षा में पास हुए 1512 अभ्यर्थियों का 16 फरवरी से 1 मार्च तक शारीरिक परीक्षण शुरू हुआ। इसके तहत पहले दिन 250 अभ्यर्थियों को शारीरिक परीक्षण किया गया जिसमें 18 महिला अभ्यर्थी भी शामिल थीं। सभी अभ्यर्थियों के शारीरिक मापदण्ड के दौरान उनकी उंचाई और सीने की चैड़ाई का परीक्षण वनकर्मी कर रहे थे, इनमें महिला अभ्यर्थी भी शामिल थीं।

उस वक्त विभाग द्वारा महिलाओं के लिए महिला चिकित्सक को भी बुलाया गया था जिसके साथ महिला वन कर्मियों की मौजूदगी के बावजूद पुरूषकर्मी ने महिला अभ्यर्थियों को परीक्षण किया। इस दौरान विभाग के अधिकारी सहित कई कार्मिक मौजूद थे।

वहीं इस बारे में जब उप वन सहायक एस खां और मौजूद विभागीय अधिकारियों, कार्मिकों को इस बारे में बताया गया तो उन्होंने ऐसा होने से साफ इंकार कर दिया। लेकिन जब कैमरे में कैद तस्वीरों को उन्हें दिखाया गया तो उन्होंने गलती को कबूल कर लिया।

उन्होंने कहा कि महिलाओं का शारीरिक मापदण्ड महिला कर्मियों को करना था, लेकिन पुरूष कर्मी का करना विभाग की लापरवाही है। (24city)


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें