भारत-पाकिस्‍तान के बीच धर्मशाला में होने वाले मैच से पहले विवाद बढ़ता जा रहा है. पूर्व सैनिकों के तेवरों से एक बार फिर मैच पर संकट के बादल छा गए हैं. पूर्व सैनिकों ने अब बीसीसीआई के सामने पाक के साथ मैच के लिए मौलाना मसूद अजहर का सिर लाने की शर्त रख दी है.

मसूद अजहर का सिर कलम करके लाओ, तब होगा धर्मशाला में भारत-पाक का मैच

इससे पहले बीसीसीआई सचिव अनुराग ठाकुर और मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह की मुलाकात के बाद धर्मशाला में प्रस्तावित भारत-पाक टी-20 वर्ल्ड कप क्रिकेट मैच की राह आसान होती दिख रही थी.

70 हजार पूर्व सैनिकों के एसोसिएशन ने कहा है कि पाकिस्तान को यहां खेलना है तो वह पहले पठानकोट हमले के मास्टरमाइंड मसूद अजहर का सिर काटकर लाए. इतना ही नहीं सैनिकों की इस एसोसिएशन का कहना है कि अगर धर्मशाला को वेन्यू रहा तो हम 10 मार्च से ऑपरेशन बलिदान लॉन्च करेंगे.

उन्‍होंने कहा है कि ये शर्त पूरी न होने की सूरत में पूर्व सैनिक मैच नहीं होने देंगे. इसके लिए बाकायदा प्रदेश भर से पूर्व सैनिक संगठनों की बैठक 10 मार्च को धर्मशाला में बुला ली गई है. इनका कहना है कि अगर धर्मशाला में पाकिस्‍तान का झंडा फहराएगा तो हालत बिगड़ सकते हैं.

एसोसिएशन का कहना है कि अगर एनडीए सरकार आतंक और बातचीत एकसाथ नहीं हो पाने की बात करती है तो फिर आतंक और टी-20 एकसाथ कैसे हो सकता है? अगर मैच हुआ और वहां पाकिस्तानी झंडे लहराए तो हालात बिगड़ सकते हैं. (pradesh18)


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें