भोपाल: एक तरफ पुरे प्रदेश में अपनी मांगों को लेकर किसान आंदोलन कर रहे है. मंदसौर में पुलिस की गोलीबारी में पांच से ज्यादा किसानों की बाद मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने किसानों के लिए बड़ी-बड़ी घोषणा तो की लेकिन इसके विपरीत किसानों की आत्महत्या का भी सिलसिला नहीं रुक रहा है.

प्राप्त जानकारी के अनुसार, पिछले 24 घंटों में तीन और परेशान किसानों द्वारा आत्महत्या करने के बाद गत एक सप्ताह में आत्महत्या करने वाले किसानों की संख्या बढ़कर पांच हो गई है. इन पांच किसानों ने मुख्यमंत्री की घोषणा के बाद ये खुदकुशी की है.

और पढ़े -   भगवा चोले में सामने आया हवस का पुजारी, स्वामी कौशलेंद्र प्रपन्नाचारी पर यौन शोषण का मामला दर्ज

पिछले 24 घंटों में कर्ज में फंसे दो किसानों ने आत्महत्या की है. इनमें मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के गृह जिले सीहोर के रेहटी पुलिस थाना क्षेत्र के जानना गांव का किसान दुलचंद कीर और होशंगाबाद जिले के भैरोपुर गांव का रहने वाला किसान कृपाराम शामिल है.

इसके अलावा जमीन के सीमांकन विवाद में जहर खाकर खुदकुशी करने वाला विदिशा जिले का किसान हरीसिंह जाटव भी शामिल है, जिसकी कल शाम भोपाल में इलाज के दौरान मौत हो गयी. इन सभी किसानों ने कर्ज के बोझ के तले अपनी जान दी है.

और पढ़े -   गौरक्षकों को ईद उल अजहा पर हुए कुर्बानी बकरों की तेरहवीं मनाना पड़ा महंगा

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE