फरुर्खाबाद। नगर के मोहल्ला शिवाजी नगर निवासी कदीर मोहम्मद बीती रात बरामदे में लेटे थे। उनकी मां जनवरी बेगम, पत्नी आसमां बेगम, बेटी आशियाना, खुशनुमा, गुलशन, तराना, गुलिस्ता एवं पुत्र सगीर व शानू अंदर कमरे में लेटे थे। रात करीब 11 बजे काफी गर्मी महसूस होने व दम घुटने पर कदीर की आंख खुल गई। उन्होने मेन गेट को खोलने का प्रयास किया, बाहर से कुंडी लगी होने के कारण दरवाजा नही खुला।

घर में आग के फैलने पर कदीर ने पत्नी व बच्चों को पडोस में रहने वाले भाई अकील मोहम्मद की ओर उतार दिया और किसी तरह प्रयास करके दो भैस की पडियों को भी उधर गिरा दिया था, जो आग से झुलस गई थी। आग की सूचना मिलते ही अडोस पडोस में हड़कम्प मच गया। लोगों ने सबमर्सिबल चलाकर किसी तरह आग बुझाई। तब तक कदीर बर्बाद हो चुके थे। आग से झुलसकर घोड़ा, घोड़ी, भैस व बकरी मर गई। कांग्रेस के जिलाध्यक्ष मृत्युजंय शर्मा एवं नगर पंचायत के पूर्व अध्यक्ष अशोक कुमार उर्फ ललुआ यादव एवं रोहिला निवासी पावस यादव आदि ने पीडि़त परिवार को ढाढंस बंधाया।
पावस यादव ने गरीबी को देखते हुये कदीर को 5 हजार रूपयों और MIS पब्लिक स्कूल के मैनेजर मोहम्मद अकील और साहिबे आलम ने 1100 रुपए और उनके सभी बच्चों को निःषुल्क अपने स्कूल में पाढ़ने का  भी कहा  । कदीर ने बताया कि किसी ने मेनगेट की बाहर से कुंडी लगा दी थी। आग से 10 हजार रूपये नकद व 4-4 कुंटल, अरहर व 3 कुंटल सरसों आदि घरेलू सामान जल गया। मृत भैस, घोड़ी व बकरी बच्चे को जन्म देने वाली थी। (upuklive)

लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें